गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी के मान के सरोवर में डूबेगा मानसरोवर

जयपुर, 28 जुलाई (एजेन्सी)। एशिया की सबसे बड़ी कॉलोनी मानसरोवर के वरुण पथ स्थित दिगम्बर जैन मंदिर पर रविवार को दोपहर 12.15 बजे से गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी ससंघ के 24 वे अमृत चातुर्मास मंगल कलश स्थापना का भव्य एवं अलौकिक आयोजन ध्वजारोहण के साथ प्रारम्भ होगा, जिसे समाज सेवी विजय कुमार विराट दीवान परिवार की ओर से फहरा कर की जाएगी, जिसके बाद गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी ससंघ सानिध्य में भव्य शोभायात्रा वरुण पथ दिगम्बर जैन मंदिर से मुख्य समारोह स्थल दीपशिखा कॉलेज तक लेजाई जाएगी जहाँ चातुर्मास व्यवस्था समिति एवं वरुण पथ दिगम्बर जैन प्रबंध कार्यसमिति की ओर से मुख्य आयोजन आयोजित कर चातुर्मास मंगल कलशो की स्थापना करवाई जाएगी। मंत्री जेके जैन ने बताया की दीपशिखा कॉलेज में भव्य परिसर में चातुर्मास मंगल कलश स्थापना समारोह का आयोजन किया जायेगा जिसकी भगवान महावीर स्वामी एवं आचार्य विराग सागर महाराज के चित्र अनावरण से होगी जिसे समाज सेवी एवं चातुर्मास व्यवस्था समिति के मुख्य संयोजक नरेंद्र शारदा पाटनी परिवार, दीप प्रवज्ज्लन शांति कुमार ममता सौगानी जापान वाले, पाद प्रक्षालन विनय कुमार स्नेहलता सौगानी परिवार द्वारा कर मांगलिक शुरुवात की जायगी। इस दौरान गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी को शास्त्र भेट, वस्त्र भेट किये जायेगे और अष्ट द्रव्यों के थाल से गुरु पूजन की जाएगी। इस अवसर पर वरुण पथ दिगम्बर जैन महिला मंडल की ओर से सामूहिक विशेष मंगलाचरण भी प्रस्तुत किया जायेगा। जिसके पश्चात् अध्यक्ष एमपी जैन द्वारा स्वागत भाषण, गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी को वरुण पथ दिगम्बर जैन समाज सहित सकल जैन समाज जयपुर की ओर से चातुर्मास मंगल कलशो की स्थापना का निवेदन श्रीफल भेंट कर किया जायेगा। मिडिया प्रभारी अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया की रविवार को आयोजित चातुर्मास स्थापना समारोह के दौरान गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी ससंघ सानिध्य में मुख्य कलश सहित कुल 78 कलशो की स्थापना की जाएगी। इस दौरान जयपुर शहर सहित आस पास के विभिन्न शहरों से समाज के गणमान्य लोग, प्रशासनिक अधिकारी, समाज के जन प्रतिनिधियो सहित विभिन्न संस्थानों के पदाधिकारी सहित चातुर्मास व्यवस्था समिति के शिरोमणि संरक्षक गणेश राणा सहित अनेको श्रेष्ठीगण सम्मिलित कर गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी के मान के सरोवर में श्रद्धा – भक्ति और हर्षोउल्लास के साथ डुबकी लगाएगा मानसरोवर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *