मानसिक परेशान युवक ने फांसी लगाई

श्रीगंगानगर, 19 फरवरी (का.सं.)। श्रीगंगानगर में बीती रात एक युवक ने छत के साथ फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। इसी कमरे में उसके दो भाई भी सोये हुए थे, लेकिन उन्हें पता ही नहीं चला। फांसी लगा लेने का पता तब चला, जब इनमें से एक भाई सुबह करीब पौने 4 बजे लघुशंका से निवृत्त होने के लिए उठा। सदर थाना पुलिस के अनुसार चक 7 जैड में गुरु जम्भेश्वरनगर में खुदकुशी कर लेने की यह घटना अशोक कुम्हार के घर में हुई। अशोक के चार पुत्र हैं। उसके तीन पुत्र सुमित (20), विनोद तथा मनोज एक ही कमरे में सोये थे। सुबह पौने 4 बजे विजय लघुशंका से निवृत्त होने के लिए उठा, तब उसे सुमित फंदे पर लटका हुआ दिखाई दिया। विजय के होश उड़ गये। उसने मनोज को उठाया और दोनों भाई चीखने-चिगाने लगे। इस पर घर में कोहराम मच गया। अड़ोस-पड़ोस के लोग भी भागकर आ गये। पुलिस के अनुसार सुमित दिहाड़ी-मजदूरी करता था। वह दस-बारह दिनों से काम पर नहीं जा रहा था। घर वालों के मुताबिक कुछ दिनों से वह मानसिक रूप से परेशान नजर आता था, लेकिन इसका कोई कारण सामने नहीं आया। पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस ने लाश परिवारजनों के सुपुर्द कर दी। अशोक द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर मर्ग दर्ज की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *