ग्लोबल कॉम्पैक्ट नेटवर्क का 13वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन सम्पन्न

बैंगलुरू, 8 जून(एजेन्सी)। युनाईटेड नेशन्स ग्लोबल कॉम्पैक्ट, न्यूयॉर्क के स्थानीय नेटवर्क ग्लोबल कॉम्पैक्ट नेटवर्क इण्डिया ने अपने सालाना कार्यक्रम 13वें राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन 8 जून को किया। सम्मेलन का विषय सस्टेनेबल डेवलपमेन्ट गोल्स: अ ब्लुपिं्रट फॉर एक्शन था। कोरपोरेट्स, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के प्रमुखों, सीईओ, सीएक्सओ, अकादमिक जगत के प्रतिनिधियों सिविल सोसाइटी संगठनों एवं यूएन एजेन्सियों के प्रमुखों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया। अमिताभ कांत, सीईओ, नीति आयोग ने वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग के ज़रिए सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि मैं ग्लोबल कॉम्पैक्ट नेटवर्क इण्डिया, ओएनजीसी और बीईएमएल को बधाई देता हूं, जिन्होंने स्थायी विकास के लक्ष्यों पर इस भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया है। भारत सरकार ने स्थायी विकास के लक्ष्यों में दृढ़ भरोसा दिखाया है, हमारे प्रधानमंत्री जी ने भी स्थायी विकास के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की है। हमने अगले दो सालों में 10 फीसदी विकास का लक्ष्य तय किया है, ऐसे में ज़रूरी हो जाता है कि हम समावेशी विकास को सुनिश्चित करें। मेरा मानना है कि हम इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए यथासंभव प्रयास कर रहे हैं। इन लक्ष्यों को विश्वस्तरीय लक्ष्य कहा जाता हैं, जो धरती को सुरक्षित रखते हुए सभी देशों की समृद्धि को सुनिश्चित करेंगे। इन लक्ष्यों के मद्देनजऱ स्थायी विकास की जटिल चुनौतियों को असंगठित प्रयासों से हल नहीं किया जा सकता।
इस मौके पर कमल सिंह, कार्यकारी निदेशक ग्लोबल कॉम्पैक्ट नेटवर्क इण्डिया ने कहा कि सम्मेलन का विषय ‘ब्लूप्रिन्ट फॉर एक्शनÓ ऐसी पहलों पर रोशनी डालता है, जिनके द्वारा ही कारोबार स्थायी विकास के लक्ष्यों की दिशा में बढ़ सकते हैं और देश को आर्थिक दृष्टि से सशक्त बना सकते हैं। ‘ब्लूप्रिन्ट फॉर एक्शनÓ में कई अवधारणाएं शामिल हैं जैसे एसडीजी के लिए ओर्गेनाइज़ेशनल परफोर्मेन्स, सर्कुलर इकोनोमी आदि। आने वाले समय में भारत को इन्हीं अवधारणाओं का पालन करना होगा ताकि हम अपने इन लक्ष्यों को हासिल कर सकें। हमें ऐसे कदम उठाने होंगे ताकि स्थायित्व को सबसे ज़्यादा प्राथमिकता दी जाए। आज हम इसी उद्देश्य के साथ सम्मेलन में एकत्रित हुए हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *