जयपुर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, दुपहिया वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार

जयपुर, 12 सितम्बर (एजेंसी)। राजधानी जयपुर मेें वाहन चोर गिरोह का आतंक मचा हुआ है। जयपुर अलग-अलग थाना इलाको में रोजाना दर्जनों मोटर साईकिलें चोरी होने की वारदातें सामने आ रही है। मंगलवार को डीसीपी वेस्ट ने ऐसे ही शातिर वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया जिन्होंने राजधानी के अलग-अलग थाना इलाकों में रहकर दुपहिया वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस ने मामले में 7 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए चोरी की 2 दर्जन मोटर साईकिल बरामद की है। साथ ही बदमाशों से वारदात मेें इस्तेमाल पिस्टल और चाकू भी बरामद हुआ है। डीसीपी वेस्ट अशोक गुप्ता के मुताबिक वाहन चोरी की घटनाओं पर लगाम कसने के लिए अलग-अलग थाना इलाकों में पुलिस की स्पेशल टीमें गठित की गई थी। इस पर मुरलीपुरा थाना, करधनी थाना और चौमूं थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 7 बदमाशों केशव स्वामी, राकेश कुमार, वीरपाल सैनी, राहुल जांगिड़, नीरज उर्फ नीरनाथ, कृष्ण और ओमप्रकाश को दबोचा। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो उनसे करीब 2 दर्जन चोरी की मोटर साईकिल बरामद हुई। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने करीब 3 दर्जन से ज्यादा वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देना कबूल किया है। गिरफ्तार आरोपियों में तीन सीकर, एक अजमेर और और तीन जयपुर के रहने वाले है। पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि सीकर के रहने वाले तीन आरोपी नीम का थाना के एसएनकेपी कॉलेज के ग्रेजुएषन की पढाई कर रहे हैं। पढाई के बहाने यह आरोपी जयपुर में आकर किराए का मकान लेकर मास्टर चाबी और बाइक में लगे इग्निषन को हटाकर चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे है। पुलिस की जांच में आरेापियों की ओर से चुराई गई मोटइसाईकिल को औने-पौने दामों में शराब तस्करों को बेचना सामने आया है। आरोपी एक मोटर साईकिल का महज 2 से 5 हजार रूपए में सौदा करते थे। पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी वारदात को अंजाम देने से पहले दिन-रात ढाबों और थडिय़ों पर बैठकर रैकी करते हैं और बाद में पार्किंग, दुकान या गार्डन या मॉल्स के यहां खड़ी मोटरसाईकिल को उड़ा ले जाते थे। पुलिस की जांच-पड़ताल में सामने आया है कि पकड़ा गया आरोपी राहुल जांगिड़ पहले भी तीन बाइक चोरी के मामले मेें रेनवाल थाना पुलिस की ओर से जेल की हवा खा चुका है। आरोपियों ने झोटवाड़ा, मानसरोवर, विधाधर नगर, मुरलीपुरा, हरमाड़ा, चौमूं और करधानी इलाको में सबसे ज्यादा चोरी की वारदातों को अंजाम देना सामने आया है। फिलहाल पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। पुलिस को आरोपियों से जयपुर में और भी चोरी की वारदातें खुलने की उम्मीद है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *