रियर सीट बेल्ट न पहनने पर 90 फीसदी लोगों को जान का खतरा: अध्ययन

नई दिल्ली, 11 जनवरी(एजेन्सी)। निसान इण्डिया और सेव लाईफ फाउन्डेशन द्वारा पेश की गई नई शोध रिपोर्ट में चौंका देने वाले आंकड़े सामने आए हैं कि बड़ी संख्या में भारतीय अपनी और अपने बच्चों की सुरक्षा के साथ समझौता कर रहे हैं। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा ‘रियर सीट-बेल्ट यूसेज़ एण्ड चाइल्ड रोड सेफ्टी इन इण्डिया विषय पर जारी रिपोर्ट के अनुसार 90 फीसदी से ज़्यादा लोग रियर सीट बेल्ट का इस्तेमाल नहीं कर अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं। इसकी पुष्टि दिल्ली, मुंबई, जयपुर, बैंगलुरू, कोलकाता और लखनऊ में हुए एक और सर्वेक्षण से हुई है जिसके अनुसार 98 फीसदी उत्तरदाता रियर सीट बेल्ट का इस्तेमाल नहीं करते हैं। हालांकि 70 फीसदी से अधिक लोगों ने सीट बेल्ट की मौजूदगी की पुष्टि की, इसके बावजूद सीट बेल्ट का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या बहुत कम है।  अध्ययन में यात्रा के दौरान बच्चों की सुरक्षा पर भी ध्यान दिया गया है, इसके अनुसार दो-तिहाई उत्तरदाताओं का मानना है कि भारतीय सड़कें बच्चों के लिए असुरक्षित हैं। इन परिणामों के साथ रिपोर्ट राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा कानून और मोटर वाहन संशोधन विधेयक पर भी रोशनी डालती है। रिपोर्ट के अनुसार मात्र 27.7 फीसदी उत्तरदाता ही जानते हैं कि भारत में मौजूदा कानूनों के तहत रियर सीट-बेल्ट का इस्तेमाल अनिवार्य है। वहीं 91.4 फीसदी उत्तरदाताओं का मानना है कि भारत में बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा कानूनों को सख्त बनाने की आवश्यकता है। रिपोर्ट के लॉन्च पर बात करते हुए नितिन गड़करी ने कहा कि भारत में बुनियादी सुविधाओं का विकास तेज़ी से हो रहा है, ऐसे में सड़क सुरक्षा की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण हो जाती है। नीतिगत हस्तक्षेपों और जागरुकता के लिए किए जाने वाले प्रयासों के साथ सरकार सड़क सुरक्षा को बहुत अधिक महत्व दे रही है। मैं इस पहल की सराहना करता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि कोरपोरेट भारत और सिविल सोसाइटी एक भारत साथ मिलकर सड़क सुरक्षा को एक आंदोलन का रूप देंगे। इस रिपोर्ट के लॉन्च पर बात करते हुए निसान इण्डिया के प्रेज़ीडेन्ट थॉमस क्वेहल ने कहा कि जहां एक ओर भारत में सड़क सुरक्षा के लिए कई पहलें की जा रही हैं, वहीं दूसरी ओर रियर सीट बेल्ट के इस्तेमाल की पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है। निसान में हम इस पहल के माध्यम से लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना चाहते हैं। हम रियर सीट बेल्ट के इस्तेमाल के बारे में लोगों को जागरुक बनाना चाहते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *