थर्मल में मजदूर की मौत, शव के साथ लगाया धरना

बाइस लाख के मुआवजे पर बनी सहमति

श्रीगंगानगर, 12 जनवरी (का.सं.)। सूरतगढ थर्मल पावर प्लांट में निर्माणाधीन 660 मेगावाट की सुपर क्रिटिकल इकाई (नम्बर 8) में बीती रात हादसे में एक युवा मजदूर की ऊंचाई से गिर जाने के कारण मौत हो गई। मृतक मजदूर के परिवारजनों को तीस लाख का मुआवजा दिये जाने की मांग करते हुए श्रमिकों, परिजनों व क्षेत्र के कतिपय जनप्रतिनिधियों ने शनिवार को पूरे दिन इस इकाई के मेन गेट के सामने लाश रखकर धरना लगाये रखा। देर शाम को 22 लाख के मुआवजे पर सहमति बन पाई। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल भिजवाया गया। पोस्टमार्टम होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार कालूसिंह (30) पुत्र मोहनसिंह निवासी खोडां, तहसील रावतसर कल शुक्रवार रात को इकाई नम्बर 8 में लगभग 8 मीटर ऊंचाई पर केबलिंग का काम कर रहा था। बैलेंस बिगडऩे से वह नीचे आ गिरा, जिससे उसके गम्भीर चोट आई। पुलिस के मुताबिक कालूसिंह को सूरतगढ़ के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। आज सुबह परिजन, श्रमिक व अन्य लोग कालूसिंह की लाश को थर्मल में ले आये। आठ नम्बर इकाई के मेन गेट के सामने उन्होंने लाश रखकर धरना लगा दिया। मांग करने लगे कि 30 लाख का मुआवजा मृतक के परिजनों को दिया जाये। मुआवजा राशि को कम करने के लिए दिनभर वार्ताओं के चार दौर चले। चौथे दौर की वार्ता में सहमति बन पाई। सभी पक्षों की ओर से सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये गये। जानकारी के अनुसार सहमति बनी है कि एक लाख रुपये कालूसिंह के परिवार को तत्काल अग्रिम सहायता के रूप में दिये जायेंगे। अगली किश्त के रूप में 11 लाख रुपये 26 फरवरी को और फिर बकाया दस लाख रुपये 26 मार्च को दिये जायेंगे। कालूसिंह एम्पावर एनर्जी सर्विस कम्पनी में काम करता था। वार्ताओं में थर्मल की सुरक्षा के लिए तैनात सीआईएसएफ के डिप्टी कमांडेंट प्रदीप कुमार द्विवेदी, एमपावर कम्पनी के प्रतिनिधि, भारत हैवी इलेक्ट्रिक कम्पनी के अधिकारियों के अलावा परिजनों की ओर से श्रमिक नेता शंकरसिंह, विक्रम सिंह, युसूफ खान, राकेश कड़वासरा, ठुकराना के पूर्व सरपंच फतेहसिंह आदि शामिल हुए। पुलिस ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कल करवाया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *