छपरे में आग लगने से पशु जले जानबूझकर आग लगाने का आरोप

 

 

श्रीगंगानगर, 1 दिसम्बर (का.सं.)। पंजाब के समीपवर्ती गांव रूहेडियांवाली में बीती रात एक छपरे में संदिग्ध हालातों में आग लगने से उसके नीचे बंधे पशु बुरी तरह से झुलस गए जबकि एक कुत्तिया के 6-7 बच्चों की झुलसने से ही मौत हो गई। पशु मालिकों ने गांव के ही कुछ लोगों पर छपरे में आग लगाने के कथित आरोप लगाए हैं। सूचना मिलने पर सदर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पडताल शुरू कर दी है। गांव के निवासी सहीराम पुत्र राम चंद ने बताया कि गांव में पंचायती जगह पर उसने एक छपरा बनाया हुआ है, जहां पर उसने गत रात्रि अपनी दो गायें, एक भैंस व एक बछडी को बांधा था।इसी छपरे के नीचे एक कुत्तिया के 6-7 नवजात बच्चे भी रहते थे। बीती रात करीब 11 बजे अचानक छपरे में आग लग गई। पशुओं का शोर सुनकर जब वे मौके पर पहुंचे तो उन्होंने पशुओं को बाहर निकाला। सहीराम ने बताया कि भयंकर आगजनी के कारण कुत्तिया के नवजात बच्चों की आग में जलने से मौत हो गई जबकि उसकी भैंस, गाय व एक बछडी बुरी तरह से झुलस गए। सुबह उसने इस बात की सूचना पंचायत को दी। सहीराम ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनके छपरे के पास के ही गांव के अन्य लोगों ने भी बनछटियां रखने की जगह बनाई हुई है। जिनसे उनका पुराना विवाद चल रहा है। शायद उन्होंने ही इस घटना को अंजाम दिया है। इधर, घटना की सूचना मिलते ही थाना सदर से बलजीतसिंह पुलिस टीम सहित मौके पर पहुंचे। पशु मालिक के बयान कलमबद्ध करते हुए कार्रवाई शुरू कर दी। सूचना मिलने पर पशु पालन विभाग से वेटेनरी अफसर डा. हकीकत चौधरी, वेटेनरी इंस्पेक्टर प्रीतम सिंह व सुरेश कुमार मौके पर पहुंचे। झुलसे पशुओं का इलाज शरू कर दिया। भैंस 75 प्रतिशत से अधिक झुलस चुकी है, जिस कारण उसकी हालत गंभीर बनी हुई है जबकि गाय व बछडी का इलाज चल रहा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *