ई-मित्र सेंटर में आग लगने से रिकॉर्ड जला

 

श्रीगंगानगर, 10 जुलाई (का.सं.)। जिले के रामसिंहपुर थाना क्षेत्र में ग्राम पंचायत चक 8 एसटीबी में मंगलवार बड़े तड़के पंचायत घर में स्थित ई-मित्रा सेंटर में संदिग्ध रूप से आग लग गई। इस सेेंटर में पंचायत का काफी महत्वपूर्ण रिकॉर्ड पड़ा था। आग सिर्फ इसी रिकॉर्ड में लगी, जबकि वहां से लैपटॉप भी गायब बताया जा रहा है। सुबह सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने बताया कि यह आगजनी संदिग्ध रूप से हुई है, क्योंकि सेंटर में एक तरफ रखे हुए कागजात-रिकॉर्ड ही जला है। फर्नीचर आदि को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। पुलिस के मुताबिक पंचायत घर में इस ई-मित्रा सेंटर का संचालन गांव का ही एक युवक रवीन्द्र करता है। रवीन्द्र ने पुलिस को बताया कि सेंटर को कल शाम उसके एक हैल्पर ने बंद किया था। वह आज सुबह सेंटर पर आया तो अंदर रिकॉर्ड जला हुआ था। पुलिस के अनुसार तड़के चार-पांच बजे किसी ने सेंटर का ताला तोड़कर उसमें जान-बूझकर आग लगाई है। पुलिस के वहां पहुंचने पर सरपंच लोकेन्द्र सिंह कुल्हडिय़ा आदि कईं मौजिज व्यक्ति वहां आ गये। काफी देर तक पुलिस जांच-पड़ताल और पूछताछ करती रही। इसके बाद पुलिस यह कहकर लौट गई कि अगर किसी को कोई शक है तो थाने में आकर रिपोर्ट दे दो, मुकदमा दर्ज कर लिया जायेगा। शाम को पुलिस ने बताया कि गांव के लोग सरपंच लोकेन्द्र सिंह के साथ थाने में आये थे। उन्होंने कोई रिपोर्ट देने से इंकार कर दिया। गांव वालों का कहना था कि आग कोई जलती हुई बीड़ी या माचिस की तिगी कागजों के ढेर में गिर जाने के कारण लगी है। इसमें उन्हें किसी पर कोई शक नहीं है। दूसरी तरफ पुलिस ने बताया कि जो रिकॉर्ड जला है, उसमें मूल निवास और जाति प्रमाण पत्र आदि पंचायत के रिकॉर्ड सबंधी कागजात थे। यह कागजात कितने महत्वपूर्ण थे या इनकी कोई दूसरी कॉपी पंचायत घर के कार्यालय में है या नहीं, इस बाबत पुलिस ने अनभिज्ञता जताई। आगजनी के इस मामले को रफा-दफा कर दिया गया। इसमें कोई प्रकरण दर्ज नहीं हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *