डेढ़ माह से लापता युवक परिजनों के पास पहुंचा

 

भटकते हुए खुद ही अपने गांव के समीप पहुंच गया

श्रीगंगानगर, 4 अक्टूबर (का.सं.)। जिले में राजियासर थाना क्षेत्र के गांव बीरमाना का लापता हुआ एक युवक लगभग डेढ़ महीने बाद भटकते हुए आज वापस अपने गांव पहुंच गया। यह युवक पिलानी में अपने परिवार वालों से लगभग डेढ़ महीना पहले बिछड़ गया था। उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीरमाना निवासी राजेंद्र नामक इस युवक को मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण परिवार वाले झुंझुनू जिले में एक दरगाह पर मन्नत के लिए ले गए थे। वहां 10 दिन रह कर वापस आते समय पिलानी में वह अपने परिवार वालों से बिछड़ गया। काफी तलाश करने पर भी राजेंद्र नहीं मिला। इस संबंध में पिलानी थाना में उसके गुम हो जाने की रिपोर्ट भी उसके भाई ने दर्ज करवा दी। पिछले डेढ़ महीने से परिवार वाले राजेंद्र को ढूंढते फिर रहे थे, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। आज दोपहर बीरमाना के समीप मघेवाली ढाणी में एक युवक आया और राजेश नामक व्यक्ति की दुकान के सामने बैठ गया। वह काफी देर गुमसुम अवस्था में बैठा रहा। राजेश और अन्य ग्रामीणों ने उसकी मानसिक स्थिति को भांप लिया। ग्रामीणों ने इस युवक को खाना खिलाया और तसल्ली देकर पूछा तो वह अपना नाम नहीं बता पा रहा था। युवक ने इतना ही कहा कि वह चक 2 का रहने वाला है। इस युवक के पास लुहारू से श्रीगंगानगर तक का रेलवे टिकट भी था जो कि 30 सितंबर की तारीख का था। ग्रामीणों ने अपने हिसाब से अंदाजा लगाया कि यह युवक कहां का हो सकता है। एक ग्रामीण ने जब चक दो (बीरमाना) में अपने जानकारों को फोन किया तो पता चला कि इस गांव का राजेंद्र नामक एक युवक डेढ़ महीने से गुम है। मघेवाली ढाणी में आए युवक की फोटो जब बीरमाना के लोगों को व्हाट्सएप की गई तो उन्होंने फौरन पहचान लिया कि यह राजेंद्र ही है। इस पर राजेंद्र के भाई मदन और रामकुमार आदि परिवार वाले मघे वाली ढाणी में आए और उसे अपने साथ ले गए। राजेंद्र को सकुशल पाकर परिवार वालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *