बेहतर प्रशिक्षण ही चुनाव को सहज और सरल बना सकता है-डॉ. जोगाराम

विधानसभा आम चुनाव-2018

जयपुर, 8 अगस्त (का.सं.)।अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम ने कहा कि विधानसभा आम चुनाव-2018 में पहली बार नई ईवीएम एम-थ्री और वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा। ऐसे में बेहतर प्रशिक्षण ही चुनाव को सहज और सरल बना सकता है।
डॉ. जोगाराम बुधवार को हरीशचंद्र माथुर राजस्थान लोक प्रशासन संस्थान में आयोजित ईवीएम और वीवीपैट के संबंध में जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स की एक दिवसीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ईवीएम और वीवीपैट के बारे में जितनी अधिक जागरुकता और तकनीकी जानकारी होगी चुनाव उतना ही सहज लगने लगेगा। कार्यशाला में प्रत्येक बड़े जिले से दो और छोटे जिलों से एक-एक प्रतिभागी को प्रशिक्षण दिया गया। ये प्रतिभागी डिस्ट्रिक्ट लेवल मास्टर ट्रेनर (डीएलएमटी) कहलाएंगे और अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में जाकर विधानसभा वार मास्टर ट्रेनर को प्रशिक्षित करेंगे। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से 5 विधानसभा मास्टर ट्रेनर्स (एएलएमटी) को नियुक्त किया जाना है। इनका प्रशिक्षण जिला मुख्यालय पर दिया जाएगा। ये प्रशिक्षणार्थी ही आगामी दिनों में बूथ लेवल अधिकारियों को प्रशिक्षित करेंगे। कार्यशाला में प्रदेश भर के 55 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर राजेश सोरानियां और जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर चंद्रशेखर और युधिष्टिर शर्मा ने सभी प्रतिभागियों को ईवीएम और वीवीपैट से जुड़ी तमाम तरह की सैद्धांतिक और व्यवहारिक जानकारियों से रूबरू करवाया। इस दौरान हैंड्स ऑन सेशन भी चला जिसमें प्रतिभागियों ने मशीनों से जुड़े हर तरह के सवाल मास्टर ट्रेनर्स से किए और अपनी जिज्ञासा को शांत किया। इस अवसर पर विशेषाधिकारी एचएस गोयल ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया वहीं उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनोद पारीक ने भी ईवीएम और वीवीपैट मशीनों के बारे में अपने अनुभव साझा किए। कार्यशाला में भारत इलेक्ट्रोनिक लिमिटेड (बेल) से आए इंजीनियर अंसार किरमानी भी उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *