अतिरिक्त मुख्य सचिव ने की स्वाईन फ्लू की समीक्षा

जयपुर, 7 जनवरी (का.सं.)। अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रदेश में स्वाइन फ्लू की रोकथाम एवं नियंत्रण गतिविधियों की समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। वीडियो कांफ्रेंस में जिलों से सभी मेडिकल कालेजों के प्रिंसिपल, संबद्ध अस्पतालों के अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सीएचसी-पीएचसी प्रभारी, औषधि वितरण भंडार के प्रभारियों ने वीडियो कांफ्रेंस में हिस्सा लिया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने प्रभावित जिलों में स्वाईन फ्लू के नियंत्रण एवं रोकथाम गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में भी व्यापक स्तर पर स्क्रीनिंग कार्य करने, सभी चिकित्सा संस्थानों में दवाओं की उपलब्धता एवं आमजन में स्वाईन फ्लू से बचाव एवं रोकथाम की जानकारी के लिये व्यापक स्तर पर जन-जागरुकता गतिविधियां आयोजित करने के निर्देश दिये। विशिष्ट शासन सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को स्वाईन फ्लू की प्रभावी नियंत्रण के लिये अर्ली डिटेक्शन एवं अर्ली रैफरल सेवाओं को और सुदृढ़ करने के निर्देश दिये। उन्होंने स्वाईन फ्लू संभावितों के समुचित उपचार, रैफरल के प्रबंधन हेतु सबसेंटर से लेकर मेडिकल कालेजों तक इन संबंधित चिकित्सा कार्मिकों में बेहतर समन्वय स्थापित करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि मेडिकल कालेज या अन्य अस्पतालों में उपलब्ध आईसोलेशन वार्ड, वेंटीलेटर वार्ड में कार्यरत स्टाफ के सम्पर्क सूत्र के बारे में अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों में कार्यरत स्टाफ की जानकारी में होना आवश्यक है। इसके लिये जिलों में सोशियल मीडिया का सहयोग भी लिया जा सकता है। अतिरिक्त निदेशक ग्रामीण स्वास्थ्य डॉ. रवि प्रकाश माथुर ने प्रजेंटेशन के माध्यम से स्वाईन फ्लू नियंत्रण-रोकथाम हेतु की जा रही कार्यवाही के बारे में जानकारी दी। वीडियो कांफ्रेंस में प्रबंध निदेशक आरएमएससीएल सुरेश चंद गुप्ता, निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. वीके माथुर, एसएनओ एमएनजेवाई डॉ. एसएस चौहान सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *