पैंसठ वर्षों बाद वास्तविक फल देखने को मिल रहा है: अमित शाह

झारखंड, 17 सितम्बर (एजेंसी)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आजादी के 65 वर्षों बाद केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा ‘स्वराज को ‘सुराज में बदलने के कारण आदिवासी भाई-बहनों को इसका वास्तविक फल देखने को मिल पा रहा है। आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा के खूंटी जिला स्थित उलिहातू गांव को पूर्ण विकसित करने की विभिन्न योजनाओं का मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ शिलान्यास करने के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने संबोधन में यह बात कही। शाह ने उलिहातू के साथ-साथ राज्य के उन 18 अन्य गांवों को विकसित करने की योजनाओं का भी आज एक साथ शिलान्यास किया जहां से राज्य के 18 अन्य बड़े आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संबद्ध रहे हैं। उन्होंने कहा, ”यह बड़े अफसोस की बात है कि देश को 1947 में आजादी मिलने के बाद भी दलितों, शोषितों और आदिवासियों को उसका कोई सुख नहीं मिला क्योंकि तत्कालीन सरकारों ने उनको समाज की मुख्यधारा में शामिल करने की कोशिश नहीं की। उन्होंने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ‘स्वराज को ‘सुराज में बदलने के लिए तेजी से कार्य कर रही है जिसके चलते आज आदिवासी समाज को यह शुभ दिन देखने को मिल सका। शाह ने कहा, ”स्वराज को सुराज में बदलने के लिए प्रधानमंत्री के यज्ञ में हम सब को आहुति देने के लिए आगे आना होगा तभी देश बदलेगा। उन्होंने कहा, ”बिरसा मुंडा जैसे देशभक्त योद्धा की जन्मस्थली पर आकर मैं स्वयं को भाग्यशाली समझता हूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को सेवा दिवस के रुप में मनाया जा रहा है और ऐसे शुभ दिन 19 स्वतंत्रता सेनानी योद्धाओं के पैतृक गांवों को विकसित करने का प्रण बहुत ही अच्छा कार्य है। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री के उस आह्वान के बिलकुल अनुरूप है जिसके तहत उन्होंने देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ तक सभी स्वतंत्रता सेनानियों के गांवों और जन्मस्थलों को सभी प्रकार से विकसित करने की बात कही थी। शाह ने राज्य की रघुवर दास की सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि उसने यह बहुत ही अच्छा कार्य किया है और आखिर कोई भी नेक सरकार ऐसा ही काम करें क्योंकि जिन स्थानों पर विकास न हुआ हो वहां विकास करने के लिए ही तो सरकारें होती हैं। उन्होंने याद किया कि किस तरह अंग्रेजों के क्रूर शासन के खिलाफ मुंडा सेना बनाकर बिरसा मुंडा ने पहाड़ों और जंगलों से युद्ध किया था। इस अवसर पर शाह ने बिरसा मुंडा के वंशज सुखराम मुंडा और उनके सेनापति गया मुंडा के वंशज लाल सिंह मुंडा का सम्मान भी किया। इससे पूर्व कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिशा निर्देशों के अनुकूल ही उनकी सरकार ने राज्य के 19 प्रमुख आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के गांवों को आदर्श ग्राम योजना के तहत पूर्ण विकसित करने और उन्हें सड़क मार्ग से जोडऩे और बिजली पानी आदि से युक्त करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि झारखंड वीरों की भूमि है और यहां के पूरे गांव को सरकार पक्के मकान देगी। इतना ही नहीं पूरे गांव को विकसित किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *