मैं शाहरुख और सलमान को तोड़ नहीं रहा हूं अजय देवगन

बॉलिवुड के सिंघम अजय देवगन इन दिनों अपनी कॉमिडी फिल्म गोलमाल अगेन के प्रमोशन में जी-जान से जुटे हैं। अपनी फिल्म के प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान  हुई खास बातचीत में अजय देवगन ने ‘गोलमाल’ फ्रैंचाइजी की सफलता के अलावा दीपावली की छुट्टी पर बॉलिवुड में बड़ी फिल्मों की रिलीज़ पर होने वाले बड़े टकराव पर भी खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि दिवाली में अपनी फिल्म रिलीज़ करके वह शाहरुख खान और सलमान खान को तोडऩे का काम नहीं कर रहे हैं। गोलमाल एक सफल फ्रैंचाइजी है। ऐसे में फिल्म के इस भाग की सफलता को लेकर कितने कॉन्फिडेंट हैं। इस सवाल के जवाब में अजय कहते हैं, ‘हम फिल्म की सफलता का विश्वास तो नहीं दे सकते, क्योंकि यह दर्शक तय करते हैं, लेकिन हम इस बात का विश्वास जरूर देते हैं कि ‘गोलमाल अगेन’ मनोरंजन से भरपूर फिल्म है। अगर दर्शकों को गोलमाल सीरीज के तीन भाग पसंद आए हैं तो यह भाग तीनों पार्ट से और भी बेहतर है।बॉलिवुड की यह पहली फिल्म है जिसका चौथा भाग रिलीज़ हो रहा है, ऐसी सफल सीरीज आमतौर पर हॉलिवुड में देखने को मिलती है। अजय कहते हैं, मुझे लगता है किसी फिल्म की सफलता का श्रेय फिल्म की कहानी और किरदारों को जाता है। फिल्म के किरदारों के हिट होने पर फिल्म का अगला भाग बनाया जाता है। ‘गोलमाल’ एक ऐसी सीरीज थी जिसके सभी किरदार शुरू से ही लोगों द्वारा खूब पसंद किए गए हैं। किरदारों की खासियत के बारे में लोगों को अच्छी तरह पता है, जैसे जॉनी लीवर का किरदार भुलक्कड़ है, तुषार का किरदार बोल नहीं सकता और ऐसे ही बाकी किरदार के बारे में सबको सबकुछ पता है। यह बिल्कुल इसी तरह है जैसे आज भी फिल्म शोले का हर किरदार लोगों को याद है। भले फिल्म में किसी किरदार का सिर्फ एक ही डायलॉग रहा हो। मैं यहां शोले के साथ गोलमाल’की तुलना नहीं कर रहा हूं।कुछ साल पहले तक दिवाली की छुट्टी पर बॉलिवुड के खान्स का कब्जा हुआ करता था। सन ऑफ सरदार के दौरान शाहरुख खान और यशराज के साथ टकराने वाले अजय देवगन अब अपनी फिल्म दिवाली की छुट्टी पर रिलीज़ करते हैं। इस पर अजय का कहना है, ‘परिवार में ही झगड़े होते हैं और फिल्म इंडस्ट्री भी एक परिवार है। ऐसा नहीं है कि मैंने दिवाली अब अपने नाम कर ली हैं, लेकिन ‘गोलमाल’ जैसी पारिवारिक मनोरंजन वाली फिल्म जो बच्चों, बड़ों और बूढ़ों को पसंद है, दिवाली में रिलीज़ न करें तो कब करें। इसका मतलब यह नहीं है कि हम आपस में एक-दूसरे को तोड़ रहे हैं। अब साल भर में सिर्फ 52 सप्ताह होते हैं और फिल्में 200 से ज्यादा रिलीज़ होती हैं, ऐसे में किसको कौन कहेगा कि आप रुक जाओ।अजय आगे कहते हैं, ‘सब लोग त्यौहार की छुट्टी का फायदा उठाना चाहते हैं, उसमें हम भी शामिल हैं। एक बात और भी है कि आजकल दर्शकों की पसंद के हिसाब से सिनेमा देखने और रिलीज़ का समय भी बदला है। जहां ‘न्यूटन’ जैसी फिल्म को पहले दिन थिअटर नहीं मिले लेकिन जैसे ही वह फिल्म लोगों को पसंद आई थिअटर वालों ने उसकी स्क्रीन बढ़ा दी। जो फिल्म चलती है थिअटर उसके लिए बढ़ जाते हैं। ‘न्यूटन’ को अगर बड़ी रिलीज़ मिलती तो पहले दिन थिअटर खाली रहते। अब पहले की तरह बड़े बजट की फिल्म वाले तय नहीं करते कि उन्हें कितने हॉल मिलेंगे, हां उनकी कोशिश ज्यादा से ज्यादा हॉल पाने की जरूर होती है, थिअटर वाले तय करते हैं किस फिल्म को कितनी स्क्रीन दी जाएगी। बाद में जिस फिल्म को दर्शक ज्यादा पसंद करते हैं उसके स्क्रीन दर्शकों की मांग के हिसाब से बढ़ा दिए जाते हैं।गोलमाल सीरीज में हीरो तो वही हैं, लेकिन हिरोइन बदलती रहती हैं। इस पर अजय कहते हैं, ‘लड़कियों के बदलने से फिल्म में फ्रेशनेस आती है। लड़कों के जो किरदार हैं वह फिक्स हैं, लेकिन लड़कियों के किरदारों को हमने शुरू से ही फिक्स नहीं रखा है।गोलमान अगेन की कहानी में भूतों से हंसाने का प्रयोग किया गया है। इस पर अजय कहते हैं, ‘भूत से आजतक डरा नहीं हूं लेकिन मेरे साथ दो से तीन अनुभव हो चुकें हैं जिनके बारे में बात नहीं करूंगा। अगर मैं भूतों वाले अनुभव शेयर करूंगा तो लोग मुझे पागल समझेंगे। भूतों से आमतौर पर डराने का काम किया जाता है लेकिन हंसाने पर फिल्म बनना एक अच्छा जॉनर है। इस जॉनर पर कम फिल्में बनाई जा रही हैं।’गोलमाल अगेन में अजय देवगन के अलावा अरशद वारसी, परिणीति चोपड़ा, तब्बू, तुषार कपूर, कुणाल खेमू, श्रेयश तलपड़े, नील नितिन मुकेश, प्रकाश राज, जॉनी लीवर, मुकेश तिवारी, संजय मिश्रा, मुरली शर्मा और बसंत रवि जैसे अभिनेता अहम भूमिकाओं में हैं। यह फिल्म 20 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज हुई। फिल्म का निर्देशन रोहित शेट्टी ने किया है। फिल्म की कहानी रोहित शेट्टी ने लिखी है, जबकि डायलॉग साजिद-फरहान की जोड़ी ने लिखें हैं।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *