अब गांव और किसानों पर फिल्म बनाएंगे अक्षय कुमार

बॉलिवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार मुंबई में आयोजित न्यू इंडिया कॉन्क्लेव प्रोग्राम में पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने बताया कि वह अब किसानों और गांव के विषय पर फिल्म बनाने की प्लानिंग कर रहे हैं। पिछले दिनों अक्षय ने बताया था कि अगर उन्हें दहेज प्रथा की समस्या को सुलझाने से जुड़ी कोई अच्छी कहानी मिल जाए तो वह इस विषय पर फिल्म बनाना चाहेंगे। न्यू इंडिया कॉन्क्लेव प्रोग्राम में बातचीत के दौरान अक्षय कहते हैं, ‘मैं मानता हूं कि भारत के गांव हमें कल्चर सिखाते हैं। गांव पिता की तरह होता है और शहर नौजवान बेटे की तरह। बेटे का काम है पिता के काम आना और उनकी सेवा करना। आज मैं गांव और किसानों से जुड़े प्रोग्राम में इसलिए आया हूं, ताकि मैं इनकी सेवा करने का लाभ उठा सकूं। लोग कहते हैं जीनियस शहरों से आते हैं, लेकिन मैं कहता हूं ज्यादा जीनियस लोग गांव से भी आते हैं।अक्षय आगे कहते हैं, ‘मैं एक ऐसा इंसान हूं जो किसी समस्या के बारे में बात नहीं करना चाहता हूं। मुझे समस्या के सुलझने के तरीकों के बारे में बात करना अच्छा लगता है। समस्या को सुलझाने में खुशी होती है। मैं जिन फिल्मों में काम करता हूं उनमें भी मैं समस्याओं की बात नहीं करता। फिल्म टॉइलट एक प्रेम कथा में टॉइलट की समस्या को दूर करने की बात की और पैडमैन में नैपकिन की समस्या को सुलझाने की बात की। मैं तमाम चैनल देखता हूं, वहां दिनभर प्रॉब्लम की बात होती है। मैं चाहता हूं एक ऐसा चैनल हो जो यह बताए कि कृषि की किसी भी समस्या या किसी और प्रॉब्लम से किस तरह निपटा जा सकता है। हमें समस्या सुनने की नहीं बल्कि उसके सुधार की जरूरत है।’ किसानों और गांव के जीवन पर फिल्म बनाने की घोषणा करते हुए अक्षय कहते हैं, ‘मैं इन दिनों किसानों और गांव से जुड़े विषय पर फिल्म बनाने के बारे में लोगों से बात कर रहा हूं। इसके लिए मैं तमाम लोगों से मिल भी रहा हूं। जैसा कि मैंने बताया कि मुझे समस्या के समाधान पर फिल्म बनानी है। एक भाई ने अपने कल्चर के बारे में बताया कि जब उनके घर में बिटिया पैदा होती है तो वह लोग 111 पेड़ लगाते हैं। कितना अच्छा समाधान है। अगर पूरे भारत में यह नियम बना दिया जाए तो पर्यावरण सहित कई समस्याओं का समाधान होगा। ऐसी फिल्म बनाना बहुत मुश्किल है… जो मनोरंजन के साथ मेसेज भी दे। इस तरह के अलग-अलग विषय की तलाश भी मुश्किल है। मुझे किसानों पर फिल्म बनानी है और मुझे इसके लिए बहुत प्यारा टाइटल भी मिल गया है। फिल्म का टाइटल होगा लखपती किसान।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *