अंकित भादू का सहयोगी गिरफ्तार

श्रीगंगानगर, 5 नवम्बर (का.सं.)। कुख्यात गैंगस्टर लॉरेन्स बिश्रोई के खास गुर्गे अंकित भादू का सहयोग कर रहे सादुलशहर के एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किये गये नवनीत पुत्र विष्णु गर्ग निवासी वार्ड नं. 16, सादुलशहर को कोर्ट में पेश करने पर पुलिस को पूछताछ के लिए आठ नवम्बर तक का रिमांड मिला है। सादुलशहर थानाप्रभारी बलराज सिंह मान ने बताया कि कुख्यात अपराधी अंकित भादू निवासी शेरेवाला, अबोहर ने विगत सितम्बर माह में सादुलशहर के दो व्यापारियों राजेन्द्र व रजत कुमार अग्रवाल को वाट्सअप पर कॉल करके 15 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। फिरौती नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। इस सम्बंध में छह सितम्बर को अंकित व अन्यों के खिलाफ धारा 384, 386 व 387 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। थानाप्रीाारी के मुताबिक इस केस की जांच-पड़ताल के दौरान सामने आया कि फरार व भूमिगत अंकित भादू के साथ नवनीत गर्ग लगातार सम्पर्क बनाये हुए था। फिरौती मांगने में नवनीत गर्ग की भी पूर्णत: मिलीभगत पाये जाने पर उगााधिकारियों को इस बारे में बताया गया। पुलिस अधीक्षक गौरव यादव के निर्देश पर सादुलशहर थाना की टीम ने नवनीत गर्ग को कल रविवार को हिरासत में ले लिया। अब उससे पूछताछ की जा रही है। याद रहे कि इसी वर्ष 22 मई को श्रीगंगानगर में मीरा मार्ग पर स्थित मैटेलिका जिम में हिस्ट्रीशीटर विनोद चौधरी उर्फ जॉर्डन की अंकित भादू, सम्पत नेहरा सहित छह बदमाशों के गिरोह ने गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद अंकित भादू द्वारा लाखों रुपये की फिरौती मांगे जाने के कॉल इस इलाके के धन्ना सेठों के पास आने लगे। श्रीगंगानगर में अरोड़वंश सभा के पूर्व अध्यक्ष जोगेन्द्र बजाज से 25 लाख, बिहाणी शिक्षा न्यास के अध्यक्ष जयदीप बिहाणी से 50 लाख, सट्टा किंग राकेश नारंग से 40 लाख की फिरौती अंकित भादू द्वारा मांगी गई। श्रीगंगानगर में दो-तीन और फाइनेंसरों के पास भी अंकित भादू द्वारा फिरौती मांगे जाने के कॉल्स आने की जानकारी मिली है। इनमें से कुछ फाइनेंसर तो चुपचाप उसके बताये ठिकाने पर रकम पहुंचा भी आये। राकेश नारंग ने भी गुपचुप उस तक कुछ राशि पहुंचा दी थी। इसके बाद वह ‘यादा रुपये मांगने लगा। अंकित भादू की धमकी भरे फोन कॉल आने से श्रीगंगानगर शहर में ही नहीं, बल्कि जिले के दूसरे शहरों व कस्बों के लोग बहुत आतंकित हैं। जिसके पास भी इस गुंडा टैक्स के लिए अंकित भादू का फोन आता है, उसकी रातों की नींद उड़ जाती है। पुलिस उसे पकडऩे में नाकाम साबित हो रही है। विगत 12 अगस्त को हरियाणा की पंचकूला पुलिस ने पीछा करते हुए सादुलशहर के पास अंकित को घेर भी लिया था, लेकिन वह अकेला ही सात-आठ पुलिसकर्मियों पर अंधाधुंध फायरिंग करते हुए भाग निकला। तब से उसका कुछ भी पता नहीं है। अब दीपावली के मौके पर भी उसके द्वारा फिरौती मांगने के फोन कॉल लोगों के पास लगातार आ रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *