वन एवं वन्यजीव सुरक्षा पर मिलेगा पुरस्कार

बांसवाड़ा, 21 जनवरी (एजेन्सी)। वनों की सुरक्षा एवं वृक्षारोपण के कार्य में जन भागीदारी प्राप्ति की दृष्टि से वन विभाग के साथ-साथ राजकीय उपक्रमों, स्वयंसेवी संस्थाओं, शिक्षण संस्थाओं, ग्राम पंचायतों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों, कृषकों एवं निजी व्यक्तियों के द्वारा वृहद पैमाने पर पौधारोपण का कार्य किया जा रहा है। इन सभी लोगों के द्वारा वृक्षारोपण एवं वन सुरक्ष के संबंध में किए गए अच्छे कार्यों को सरकार के स्तर पर सराहा जाकर मान्यता प्रदान कर उनके कार्य को गतिशील व प्रभावी बनाने की दिशा में राज्य सरकार ने सार्थक कदम उठाया गया है। उप वन संरक्षक सुगनाराम जाट ने बताया कि वन विभाग द्वारा वृक्षारोपण, वन सुरक्षा एवं वन्यजीव संरक्षण करने वाले व्यक्ति, समूहों, संस्थानों को विभिन्न श्रेणियों में अलग-अलग स्तर पर पुरस्कृत करेंगी। इसके तहत गणतंत्र दिवस, विश्व वानिकी दिवस, विश्व पर्यावरण दिवस, जिला एवं राज्य स्तरीय वन महोत्सव समारोह, स्वतंत्रता दिवस पर पुरस्कार एवं प्रशंसा/प्रशस्ति पत्र दिए जाने की योजना सृजन किया गया है।उन्होंने बताया कि वन वर्धक, वन प्रहरी, वन विस्तारक, वनपालक पुरस्कार, वानिकी लेखन एवं अनुसंधान तथ वानिकी पंडित पुरस्कार द्वारा श्रेष्ठ व्यक्तियों व संस्थाओं के कार्यों को पुरस्कृत किया जाएगा। वन वर्धक पुरस्कार अंतर्गत वृक्षारोपण का उत्कृष्ट कार्य करने वाले निजी व्यक्ति, किसान, संस्था, औद्योगिक प्रतिष्ठान, शिक्षण संस्था, ग्राम पंचायत, नगरपालिका, नगर परिषद या खनन क्षेत्रों की वृक्षारोपण कर पुनर्वास करने वाले व्यक्ति, संस्था को जिला, राज्य स्तर पर एक हजार रुपए की राशि से पुरस्कृत किया जाएगा। वन प्रहरी पुरस्कार के तहत वन्य जीवन, वन सुरक्षा एवं संरक्षण में उत्कृष्ट कार्य के लिए ग्राम स्तरीय वन सुरक्षा एवं प्रबंधन समिति को एवं वन सुरक्षा में सहयोग का कार्य करने वाले निजी व्यक्ति, संस्था को एक-एक हजार रुपए से राज्य व जिला स्तर पर पुरस्कार स्वरूप दिया जाएगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *