टाक ने सर्व समाज भाईचारा सम्मेलन का आयोजन कर चुनाव प्रचार आरंभ किया

श्रीगंगानगर, 12 अगस्त (का.सं.)। श्रीगंगानगर विधानसभा क्षेत्र से आगामी चुनाव लडऩे की पूरी तरह से तैयारी किए हुए भाजपा के वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष प्रहलाद राय टाक ने रविवार को रामलीला मैदान में सर्व समाज भाईचारा सम्मेलन का आयोजन कर अपना चुनाव प्रचार आरंभ कर दिया। उन्होंने कहा है कि पार्टी हाईकमान पर उन्हें पूरा भरोसा है। इस बार के चुनाव में हाईकमान उन्हें मौका देगी। टाक ने साफ तो नहीं कहा लेकिन उन्होंने सम्मेलन में आए हुए लोगों को विश्वास दिलाया कि भाजपा की टिकट उन्हें ही मिलेगी।इसी तरह उनका साथ बनाए रखें।अपने उद्बोधन में उन्होंने ऐसा कोई संकेत नहीं दिया कि अगर भाजपा हाईकमान ने उन्हें टिकट नहीं दी तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।अलबत्ता इसके विपरीत इस तरह का गोलमोल संदेश देते रहे कि वह चुनाव लडऩे को तैयार हैं, चाहे भाजपा की टिकट मिले जाने या नहीं।इस सर्व समाज सम्मेलन में सैकड़ों की तादाद में लोग आए। मंच पर करीब 50 बिरादरियों और समाज के प्रतिनिधियों को विराजित किया गया।पूरे ढोल धमाके और जोश खरोश के साथ इस सम्मेलन का आयोजन कर टाक ने अपने चुनाव प्रचार का बिगुल बजा दिया है। टाकने चुनाव लडऩे की 2 वर्षे तैयारी की हुई है। आज के आयोजन से उन्होंने यह भी साफ कर दिया अब वे चुनाव लडऩे से पीछे हटने वाले नहीं हैं।इस सम्मेलन में कहीं भी भाजपा का झंडा या बैनर दिखाई नहीं दिया।सर्व समाज सम्मेलन में करीब 50 समाज धर्म और वर्गों के प्रतिनिधियों को को आमंत्रित कर मंचस्थ किया गया। सम्मेलन में गंगानगर विधानसभा क्षेत्र में आते शहरी और 20 ग्राम पंचायतों से ग्रामीण शामिल हुए।अपने उद्बोधन में भाजपा नेता टाक ने केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं का विस्तार से उल्लेख किया।जमींदारा पार्टी पर निशाना दूसरी तरफ उन्होंने मुख्य विप दल कांग्रेस की बजाए गंगानगर से जमींदारा पार्टी की विधायक कामिनी जिंदल और इस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष,उद्योगपति व कामिनी जिंदल के पिता बी डी अग्रवाल नाम लिए बिना उन्हें खूब निशाने पर लिया । टाक ने कहा कि विधायक अपनी जिम्मेदारी निभाने में पूरी तरह से विफल रही है। यही कारण है कि आज भी इस विधानसभा क्षेत्र की समस्याएं ज्यों की त्यों हैं।उन्होंने राज्य विधानसभा में कभी भी गंगानगर के विकास के लिए और यहां की समस्याओं के समाधान के लिए कोई आवाज नहीं उठाई। जबकि उन्होंने पिछला विधानसभा का चुनाव लड़ते समय यहां के लोगों से खूब चिकनी चुपड़े वायदे किए थे।उन्होंने कृषि विश्वविद्यालय बनवाने की बात कही थी जिसे पूरा नहीं किया।उल्टे गंगानगर शहर में जल निकासी योजना के लिए अपने परिवार के ट्रस्ट से सरकार को जो 10 करोड रुपए दिए थे वह ब्याज सहित वापस ले लिए । टाक ने कहा कि इसी से ही पता चल जाता है कि विधायक की गंगानगर के प्रति कैसी नियत थी ।इसी तरह भाजपा नेता ने जमींदारा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी डी अग्रवाल का नाम लिए बिना मेडिकल कॉलेज के निर्माण का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि दानदाता बार बार निर्माण शुरू करवाने की तारीख बढ़ाता जा रहा है जबकि बीते 5 वर्षों के दौरान इस कॉलेज की एक ईंट भी नहीं रखी गई। सरकार के साथ एम ओ यू की अवधि पूरी होने से पहले ही इस एग्रीमेंट को बढ़वा लिया। उन्होंने कहा कि यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि राज्य सरकार ने जहां प्रदेश में कई मेडिकल कॉलेज शुरू कर दिए, वही गंगानगर में दानदाता की वजह से कॉलेज नहीं बन रहा। टाक ने कहा कि दानदाता न तो खुद मेडिकल कालेज बना रहा है और ना ही राज्य सरकार को बनाने दे रहा है।इसका असर भाजपा सरकार की छवि पर भी पड़ा है।उन्होंने कहा कि अगर आज दानदाता कॉलेज निर्माण से अपना हाथ पीछे कर लेता है तो राज्य सरकार पर दबाव डालकर कॉलेज निर्माण को शुरू करवाया जा सकता है। विकास ही चुनाव का मुद्दा उन्होंने प्रसन्नता जताई कि उनके एक आग्रह पर इस सम्मेलन के लिए हजारों लोग उमड़े।यह इस बात का प्रतीक है कि यहां के लोग सर्व समाज भाईचारा के लिए सदैव जागरुक रहे हैं। टाक ने कहा कि अब तक गंगानगर में 14 चुनाव हुए हैं। यहां के मतदाताओं ने कभी भी जाति विशेष को महत्व नहीं दिया।इस विधानसभा क्षेत्र से ब्राह्मण, राजपूत, नाथ, जाट , अरोड़ा और वैश्य समाज के नेता चुनाव जीते रहे हैं। गंगानगर के मतदाताओं की विशेषता है कि वे जाति से हटकर विकास के मुद्दे पर वोट देते हैं।उन्होंने क्करू नरेंद्र मोदी के नारे सबका साथ सबका विकास को बुलंद करते हुए कहा कि आगामी चुनाव में यहां की जनता इसी बात पर मोहर लगाएं।राज्य सरकार ने गंगानगर में विकास कार्य करवाने तथा कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।इसी बीच भाजपा नेता ने नगर परिषद और नगर विकास न्यास के अध्यक्षों अजय चांडक वह संजय महिपाल का नाम लिए बिना कहा कि इन्हें आरोप प्रत्यारोप छोड़ कर शहर के विकास के लिए काम करना चाहिए। टाक ने कहा कि अगर उन्हें आगामी चुनाव में जनता मौका देती है तो चुने जाने के बाद वे ऐसा कोई बहाना नहीं बनाएंगे कि यह काम उनके बस का नहीं है। चुने हुए जनप्रतिनिधि का रवैया ऐसा नहीं होना चाहिए कि यह काम या इस समस्या का समाधान मैं नहीं करवा सकता क्योंकि यह काम फलां विभाग का है। वे अपनी पूरी जिम्मेदारी के साथ पद का निर्वहन करेंगे ।भाजपा नेता ने लगे हाथ इस बात पर भी खुशी जताई की आज के सम्मेलन में हजारों लोगों ने उपस्थित होकर यह दशा दिया है कि अगले माह के प्रथम सप्ताह में गौरव यात्रा के तहत गंगानगर आ रही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का भी इसी तरह से जोरदार स्वागत किया जाएगा ।जो विरोधी अफवाह फैला रहे हैं कि मुख्यमंत्री राज्य की जनसभा गंगानगर में इसलिए नहीं आयोजित की जा रही कि इसमें लोग नहीं आएंगे।टाक ने कहा कि मुख्यमंत्री की सभा गंगानगर में हो तो इसी तरह से हजारों लोग आएंगे।जदयू की टिकट तैयार सर्व समाज भाईचारा सम्मेलन में आये करणपुर के पूर्व पार्षद और फिलहाल जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश पदाधिकारी श्याम वर्मा ने ने कहा कि प्रह्लाद टाक भाजपा की टिकट के लिए अपना पूरा जोर लगाएं।आज के इस आयोजन को देखते हुए उन्हें लग रहा है कि भाजपा हाईकमान उनको टिकट अवश्य देगी फिर भी अगर भाजपा की टिकट नहीं मिलती तो उन्हें जनता दल यू की टिकट वे आज ही दे कर जा रहे हैं। सम्मेलन में अबोहर नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन शिवराज गोयल, पंजाब में भाजपा स्पोर्ट्स संघ की पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारी सरिता मलेठिया, गंगानगर में श्रमिक नेता लीलाधर पटवा, कर्मचारी नेता सतीश शर्मा, भाजपा नेत्री अमृत कौर अमरीक कौर,भाजपा अजा अजा मोर्चा के जिला अध्यक्ष ओमी नायक, धानक समाज के किशोरीलाल सिवान, भाजपा नेत्री रीना महंत आदि ने भी संबोधित किया। मंच पर राजस्थान पंजाबी भाषा अकादमी के अध्यक्ष रवि सेतिया, वरिष्ठ भाजपा नेता चुन्नीलाल रत वाया, श्रवण चावला प्रभु दयाल डाल, विजय पंचारिया सुभाष देवर्थ,भाजपा नेत्री मती प्रभा शर्मा, गुरदीप कौर टक्कर, पूर्व पार्षद मुख्त्यार सिंह आदि बड़ी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद थे। मंच संचालन पूर्व पार्षद संजीव सैनी और एडवोकेट पूर्ण घोडेला ने किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।भाषण से पहले भोजन पर जोर इस भाईचारा सम्मेलन में हजारों की संख्या में लोग आए जिनके लिए कार्यक्रम संयोजक प्रह्लाद टाक की ओर से भोजन की व्यवस्था भी की गई।कार्यक्रम दोपहर लगभग 12 बजे शुरू हुआ। इससे पहले आए हुए लोगों को को भोजन दिया गया। कार्यक्रम शुरू होने के बाद भी भोजन स्थल पर लोगों की भीड़ लगी रही।जब मंच से भाषण के दौर शुरू हुए तब तक लोगों का वापिस जाना शुरु हो गया था। अत्यधिक गर्मी और उमस के कारण काफी परेशानी हुई।इस पर अपने उद्बोधन में प्रहलाद राय टॉक ने कहा कि उन्हें अंदाजा नहीं था गर्मी और उमस इतनी हो जाएगी नहीं तो और ज्यादा व्यवस्था की जाती। फिर भी उन्होंने लोगों का आभार जताया कि कि वह उनके एक बुलावे पर इतनी बड़ी तादाद में यहां पहुंचे।राजनैतिक पर्यवेक्षकों की नजर भाजपा नेता टाक के इस आयोजन पर राजनीतिक पयर्वेक्षकों की नजरें लगी रही। खुफिया एजेंसियां भी इस आयोजन को लेकर सक्रिय रही।राजनीतिक माहिरों का आकलन है कि अपने इस पहले आयोजन में टाक बहुत हद तक सफल रहे हैं।इस आयोजन के जरिए वे अपनीभाजपा पार्टी के नेताओं को ही नहीं बल्कि दूसरे दलों के नेताओं को भी संकेत देने में कामयाब रहे हैं कि अब उन्हें आगे बढऩे से कोई नहीं रोक सकता। जहां तक सम्मेलन में आए लोगों की संख्या का सवाल है आयोजक इसे 15 से 20 हजार बता रहे हैं तो दूसरी ओर खुफिया एजेंसियों ने उपस्थित लोगों की संख्या 8 से 10 हजार बताई है।इस लिहाज से भी प्रह्लाद टाक का चुनाव की तरफ यह पहला कदम मजबूती से आगे बढ़ा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *