ब्रिटिश टॉय कंपनी हेमलीज को खरीद सकती है RIL

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज ब्रिटेन की खिलौने बनाने वाली कंपनी हेमलीज को खरीदने के लिए बातचीत कर रही है। हेमलीज की मालिक चीन की एक कंपनी है। यह जानकारी इस मामले से वाकिफ दो सूत्रों ने दी है। इनमें से एक ने बताया, ‘रिलायंस की हेमलीज के मालिकों से आखिरी दौर की बातचीत चल रही है। रिलायंस रिटेल की रिलायंस ब्रांड्स के पास हेमलीज की भारत की मास्टर फ्रेंचाइजी है। लंदन में खिलौने के एक पुराने स्टोर से हेमलीज ब्रांड शुरू हुआ था। भारत में यह कंपनी सबसे बड़ी टॉय रिटेलर बनकर उभरी है। ऐसे में अगर रिलायंस इस ब्रांड को खरीदती है तो टॉय रिटेल मार्केट में उसकी ताकत बढ़ेगी। हेमलीज के पास दुनियाभर में 130 स्टोर हैं। इनमें से 87 भारत में हैं। रिलायंस इस साल हेमलीज के स्टोर्स की संख्या बढ़ाने की तैयारी कर रही है। मुकेश अंबानी की कंपनी ने इस साल ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस लॉन्च करने का भी प्लान बनाया है। एक्सपर्ट्स ने बताया कि वह इससे फूड से लेकर फैशन और खिलौनों तक की बिक्री करेगी। इस खबर के लिए ईमेल से पूछे गए सवाल पर रिलायंस के प्रवक्ता ने कहा, ‘पॉलिसी के तहत, हम मीडिया की अटकलों और अफवाहों पर प्रतिक्रिया नहीं देते। हमारी कंपनी समय-समय पर बिजनेस बढ़ाने के कई विकल्पों पर गौर करती है। इन मामलों में सेबी के रूल्स के तहत जो भी जरूरी होगा, हम वो जानकारी देंगे। रिलायंस इंडस्ट्रीज के हेमलीज को खरीदने की कोशिश की खबर सबसे पहले  Moneycontrol.com  वेबसाइट ने दी थी। रिलायंस ब्रांड्स भारत में सबसे अधिक विदेशी लेबल्स ऑपरेट करती है। उसके पास ज्वाइंट वेंचर और मास्टर फ्रेंचाइजी एग्रीमेंट्स के जरिये करीब चार दर्जन ब्रांड्स हैं। वहीं, दिसंबर 2018 को खत्म साल में हेमलीज को 92 लाख पाउंड का घाटा हुआ था, जबकि एक साल पहले कंपनी ने 17 लाख पाउंड का मुनाफा कमाया था। 2015 में चीन के रिटेल ग्रुप सी बैनर इंटरनेशनल होल्डिंग्स ने लुडेंडो एंटरप्राइजेज यूके लिमिटेड से हेमलीज को खरीदा था। इस खबर को लेकर पूछे गए सवालों का लुडेंडो ने भी जवाब नहीं दिया। हेमलीज सहित दूसरी बड़ी टॉय कंपनियों की हालत खराब है। पिछले साल अमेरिका की टॉयज आर अस नाम की खिलौना कंपनी को बिजनेस बंद करना पड़ा था। इससे पहले 2017 में उसने खुद को दिवालिया घोषित किया था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *