इंडिया में रेट्रो टैक्स से $50 करोड़ का लॉस- केयर्न एनर्जी

 

मुंबई । ब्रिटेन की दिग्गज ऑयल कंपनी केयर्न एनर्जी ने कहा है कि उसे रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स मामले में इंडियन टैक्स अथॉरिटीज की तरफ से उठाए गए कदमों के चलते सीधे तौर पर लगभग 50 करोड़ डॉलर का लॉस हुआ है। कंपनी के खिलाफ लगभग पिछले पांच साल से यह मामला चल रहा है। कंपनी ने कहा है कि वह 2014 में भारत में किया गया इनवेस्टमेंट सरकार की तरफ से जब्त कर लिए जाने से हुए 1.4 अरब डॉलर (लगभग 102,00 करोड़ रुपये) के समूचे लॉस की रिकवरी में जुटी है। फाइनल आर्बिट्रेशन की सुनवाई हेग में अगस्त में हुई थी और उसमें एक्सपर्ट्स के अलावा फैक्ट विटनेस की गवाही दिलाई गई। सुनवाई में यूके-इंडिया बाइलैटरल इनवेस्टमेंट ट्रीटी के तहत केयर्न के दावे, बचाव में दी गई भारतीय पक्ष की दलील और अधिकार क्षेत्र के मसले पर बहस हुई। केयर्न की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, ‘केयर्न को अब भी आर्बिट्रेशन में अपना दावा मजबूत होने का पूरा भरोसा है। केयर्न रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स लॉ के चलते इंडिया में 2014 में किया गया इनवेस्टमेंट जब्त हो जाने पर हुए कुल 1.4 अरब डॉलर से ज्यादा के नुकसान की पूरी वसूली चाहती है। कंपनी ने कहा है कि वह उन इनवेस्टमेंट्स को लेकर भारत सरकार के अनुचित और भेदभाव वाले रवैये का हिसाब चाहती है। 2014 में इंडियन टैक्स अथॉरिटीज ने रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स लॉ के आधार पर केयर्न एनर्जी से लगभग एक दशक पहले इंटरनल रीऑर्गनाइजेशन के चलते हुए कैपिटल गेन पर टैक्स की मांग की थी। बाद में उन्होंने केयर्न एनर्जी की सब्सिडियरी केयर्न इंडिया में बची उसकी 9.8त्न हिस्सेदारी को जब्त कर लिया था। केयर्न इंडिया को बाद में नई पैरंट कंपनी वेदांता के साथ मर्ज कर दिया गया। कंपनी के शेयर 4 साल पहले जब्त किए गए थे जिसे टैक्स डिपार्टमेंट ने इसी साल अपने पास ट्रांसफर कराया था। केयर्न एनर्जी ने कहा, पहली छमाही में इंडियन इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (ढ्ढढ्ढञ्जष्ठ) ने वेदांता में केयर्न की दो प्रतिशत होल्डिंग बेचने का निर्देश जारी किया और उससे हासिल 23.1 करोड़ डॉलर की रकम अपने पास रख ली। पहली छमाही के बाद 1त्न शेयर और बेचे गए। ढ्ढढ्ढञ्जष्ठ ने वेदांता वाली शेयरहोल्डिंग से 16.2 करोड़ डॉलर का डिविडेंड ड्यू और 23.4 करोड़ डॉलर का टैक्स रिफंड ड्यू भी जब्त कर लिया है। वेदांता में शेयरों की बिक्री और उससे हासिल रकम ढ्ढढ्ढञ्जष्ठ की तरफ से जब्त कर लिए जाने के बाद केयर्न ने 23.1 करोड़ डॉलर मूल्य के बेचे गए शेयरों के डीरिकग्निशन को लॉस में दिखाया है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *