बायजू ने 2240 करोड़ रुपये में व्हाइटहैट जूनियर का किया अधिग्रहण, बच्चों में बढ़ाएगा कोडिंग स्किल

मुंबई। शिक्षा प्रौद्योगिकी फर्म बायजू ने एक स्टार्टअप कंपनी व्हाइटहैट जूनियर का अधिग्रहण किया है। बायजू ने इस अधिग्रहण के लिए 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर (लगभग 2,240 करोड़ रुपये) में चुकाया है। व्हाइटहैट जूनियर बच्चों में कोडिंग स्किल बढ़ाने का काम करती है। एक रिपोर्ट के अनुसार बच्चों के लिए कोडिंग भविष्य में एक प्रमुख कौशल के रूप में तेजी से उभर रही है और इसका मार्केट 8 बिलियन अमरीकी डॉलर का है। इस अधिग्रहण से अमेरिका और भारत में इसके विस्तार में मदद मिलेगी। नई शिक्षा नीति प्रारंभिक कक्षाओं से कोडिंग कौशल सिखाने पर भी जोर देती है। बयान में कहा गया कि बायजू व्हाइटहैट के प्रौद्योगिकी मंच और उत्पाद नवाचार में महत्वपूर्ण निवेश करेगा, नए बाजारों से मांग को पूरा करने के लिए शिक्षक आधार का विस्तार करेगा। द टार्गेट कंपनी के संस्थापक करण बजाज कहते हैं, प्रौद्योगिकी आज प्रत्येक व्यक्ति के लिए जरूरी है। इसको देखते हुए हमने एक कोडिंग पाठ्यक्रम बनाने के लिए निर्धारित किया था, जिसे लाइव और कनेक्ट किए जा रहे छात्रों और शिक्षकों के पास पहले कभी उपलब्ध नही था। बजाज ने कहा, बायजू के रूप में एक दूरदर्शी कंपनी के साथ एकीकरण इस विचार को नई ऊंचाइयों पर ले जाने और वैश्विक स्तर पर बच्चों की उल्लेखनीय रचनात्मक क्षमता दिलाने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें: पेटीएम के बाद क्च4द्भह्व’ह्य भारत का दूसरा सबसे मूल्यवान स्टार्टअप होगा
बायजू के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी बायजू रवेन्द्रन ने कहा, “व्हाइटहैट जूनियर की कोडिंग उत्पाद क्षमताएं संयुक्त रूप से स्कूली छात्रों के लिए सीखने में मदद करेंगी।”
व्हाइटहैट ने हाल ही में अमेरिका में अपने ऑनलाइन वन-कोडिंग क्लासेस के लिए अमेरिका में शानदार प्रदर्शन के बाद कनाडा, यूके, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे अन्य वैश्विक बाजारों में विस्तार करने की अपनी योजना की घोषणा की थी।अमेरिका में अपने पाठ्यक्रम शुरू करने के बाद, इस साल फरवरी से कंपनी महीने-दर-महीने 100 फीसद से अधिक की दर से बढ़ रही है। बयान के अनुसार, बियजू ने अपने राजस्व को दोगुना कर 2,800 करोड़ रुपये कर दिया है और अकेले जुलाई में 500 करोड़ रुपये का राजस्व कमाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *