बिहार की युवती की बीकानेर में संदेहास्पद मौत

 

श्रीगंगानगर, 30 दिसम्बर (नि.स.)। बिहार की एक युवती की बीकानेर में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो जाने का मामला उजागर हुआ है। इस युवती का ननिहाल चंडीगढ़ में बताया जाता है। करीब 22 वर्षीय यह युवती डेढ़-दो महीने पहले बीकानेर आई थी और जयनारायण व्यास कॉलोनी थाना क्षेत्र में शिवबाड़ी में किराये के कमरे में अकेली रहती थी। इस युवती से मिलने तीन दिन पूर्व एक अन्य युवती आई थी। इसके दो दिन बाद ही किराये पर रहने वाली इस युवती की घर के बाथरूम में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। व्यास कॉलोनी थाना में सब इंस्पेक्टर सुमन परिहार ने शनिवार को इस मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि मृतका संगीता झा है, जो बीकानेर में एक मोबाइल फोन कम्पनी में काम करती थी। इस कम्पनी में काम करने वाले एक युवक ने उसे दिगी से बीकानेर बुलवाकर कम्पनी की स्थानीय ब्रांच में नियुक्त करवाया था। उसे रहने के लिए शिवबाड़ी में मकान दिलवाया। एसआई सुमन के मुताबिक तीन-चार दिन पहले उत्तर प्रदेश में लखनऊ में चिनहत थाना इलाके मेें शिवपुरी कॉलोनी निवासी सोना यादव पुत्री श्रीकांत यादव रहने के लिए संगीता के पास आई थी। दोनों एक साथ ही इस मकान में रहने लगे थे। सोना यादव ने पुलिस को बताया है कि परसों गुरुवार शाम को संगीता नहाने के लिए बाथरूम में गई थी। इसके कुछ देर बाद ही संगीता के चीखने की आवाज आई, लेकिन बाथरूम का दरवाजा अंदर से बंद था। उसने अड़ोस-पड़ोस के लोगों को बुलाया। उनकी मदद से बाथरूम का दरवाजा तोड़ा गया तो संगीता अंदर मृत पड़ी थी। उसके शव को पीबीएम अस्पताल के मुर्दाघर में सुरक्षित रखवा दिया गया। इसके बाद पुलिस ने संगीता के परिवार वालों का पता लगाने की कार्रवाई शुरू की। एसआई के अनुसार बीकानेर मेें ही कार्यरत संगीता के दोस्त से ही उसके घर वालों के बारे में जानकारी जुटाई गई। संगीता मूल रूप से बिहार की है। उसका परिवार वहीं रहता है, लेकिन उसका ननिहाल चंडीगढ़ में बताया जाता है। पुलिस के सूचना देने पर आज सुबह उसके कुछ रिश्तेदार बीकानेर में पहुंचे, लेकिन यह रिश्तेदार दूर के होने के कारण पुलिस ने उनकी मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम करवाने से मना कर दिया। एसआई ने बताया कि संगीता के भाई व परिवार के सदस्य बिहार से आ रहे हैं। उनके आज देर रात तक पहुंचने की सम्भावना है। कल रविवार को मेडिकल बोर्ड का गठन करवाने के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाया जायेगा। उधर, सोना यादव ने पुलिस को बताया है कि चार-पांच माह पहले लखनऊ में उसकी मुलाकात संगीता से हुई थी। दोनों ने मोबाइल फोन नम्बर एक्सचेंज कर लिये थे। इसके बाद वे आपस में निरंतर बातचीत करने लगी। संगीता के कहने पर ही वह बीकानेर उसके पास आई थी। यहां संगीता ने उसे काम दिलाना था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *