मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने संभागीय आयुक्तों के साथ की बैठक

जयपुर, 21 जनवरी (का.सं.)। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने प्रदेश के सभी संभागीय आयुक्तों के साथ बैठक कर आगामी लोकसभा आम चुनाव-2019 की तैयारियों के संदर्भ में मतदाता सूचियों के संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम पर विचार-विमर्श कर जरूरी दिशा-निर्देश दिए। सोमवार को सचिवालय स्थित समिति कक्ष में हुई बैठक में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सम्भागीय आयुक्तों को सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों और निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों के साथ बैठक कर ईआरओ नेट पर उपलब्ध बहु प्रविष्टियां एवं दोहरी प्रविष्टि क्रमांक वाले मतदाता फोटो पहचान पत्रों को निस्तारित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि बहु प्रविष्टियां, दोहरी प्रविष्टियां सत्यापन के दौरान सही नहीं पाई जाती है तो विधिवत् रूप से 7 दिवस का नोटिस देकर नाम हटाने की कार्यवाही की जाए। दोहरी प्रविष्टियों एवं दोहरे मतदाता पहचान पत्रों के निस्तारण की कार्यवाही भी 3 फरवरी, 2019 तक पूरी करने के निर्देश दिए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि बूथ लेवल अधिकारी 25 जनवरी तक घर-घर जाकर मतदाता सूचियों की प्रविष्टियों का सत्यापन करेंगे। साथ ही पात्र व्यक्तियों विशेष कर युवाओं से मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करने, मृत या स्थानान्तरित मतदाताओं का चिन्हीकरण कर सूची तैयार की जाएगी। इसके साथ-साथ इस अवधि में उच्च शिक्षण संस्थानों में युवाओं, विशेष योग्यजनोंं के पंजीकरण के लिए विशेष शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्य को गम्भीरतापूर्वक किया जाए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी जिलों में विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम की अवधि के दौरान सम्भागीय आयुक्तगणों को आयोग द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुसार उनके अधीन आने वाले जिलों में भ्रमण करने, प्रत्येक भ्रमण के लिए आयोग द्वारा निर्धारित चैकलिस्ट के अनुसार निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण, जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा किए गए कार्य का पर्यवेक्षण करने और अपने भ्रमण की रिपोर्ट प्रथम, द्वितीय भ्रमण की समाप्ति के बाद निर्वाचन विभाग को प्रस्तुत करनेे के निर्देश दिए हैं। कुमार ने कहा कि विधानसभा क्षेत्रवार मतदाता सूची के सांख्यिकी आंकड़ों का विश्लेषण कर मतदाता सूचियों के विभिन्न पैरामीटर्स जैसे जनसंख्या अनुपात, लिंगानुपात एवं आयु आदि के अनुसार यह देखें कि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में उक्त पैरामीटर्स मापदंडों के अनुसार है अथवा नहीं। ?से निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों से आगामी दिवसों में इनके निराकरण के लिए निर्देश प्रदान करेंगे, ताकि स्वच्छ, साफ-सुथरी एवं त्रुटिरहित मतदाता सूची का अन्तिम प्रकाशन किया जा सके।उन्होंने सम्भाग के अधीन आने वाले जिलों के जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ निर्वाचन संबंधी विषयों की जानकारी देने के लिए बैठक आयोजित करवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान केन्द्रवार नियुक्त बीएलओ की सूची को वेबसाइट पर अपडेट करने के भी निर्देश दिए। संभागीय आयुक्तों को जिले के सरकारी विभागों में ‘वोटर अवेयरनेस फोरम’ की स्थापना करवाने की कार्यवाही करने और मॉनीटरिंग करने के भी निर्देश दिए ताकि आगामी 15 दिनों में सभी सरकारी कार्यालयों में ‘फोरम’ की स्थापना की जा सके। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रेखा गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी (आईटी) एमएम तिवारी, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनोद पारीक सहित निर्वाचन विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *