आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों के ‘पोषण को अभियान के रूप में लें-सीईओ

जयपुर, 10 जुलाई (का.सं.)। जयपुर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) आलोक रंजन ने जिले के बाल विकास परियोजना अधिकारियों (सीडीपीओ) को निर्देश दिये है कि वे आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से बच्चों के पोषण पर फोकस करते हुए इसे अभियान के रूप में संचालित करे। उन्होंने सीडीपीओ को पोषण अभियान में मुख्य भूमिका निभाने को कहा। रंजन मंगलवार को जिला कलेक्टे्रट सभागार में जिला स्तरीय निगरानी तथा समीक्षा समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में जयपुर जिले में समेकित बाल सेवाएं के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रदान की जा रहे सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार, प्रबोधन तथा इसके लिए विभिन्न विभागों से समन्वय पर विस्तार से चर्चा की गई। सीईओ ने कहा कि बच्चों के पोषण स्तर मेें सुधार के लिए सुपोषण दिवस का आयोजन किया जाये तथा प्रत्येक माह इस प्रकार की गतिविधियों का आयोजन हो, जिसमें अभिभावकों एवं जन प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाये। उन्होंने बैठक मेें बाल विकास परियोजनाओं में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका व आशा सहयोगिनी के बारे में जानकारी लेते हुए रिक्त पदों को भरने के लिए समयबद्ध कार्यवाही के निर्देश दिये। बैठक मेें बताया गया कि जिले में नंदघर योजना के तहत अब तक 498 आंगनबाड़ी केन्द्रों को विभिन्न दानदाताओं ने गोद लेकर विभाग के साथ एमओयू किया है। यह उपलब्धि 658 के लक्ष्य के विरूद्ध प्राप्त की गई है। सीईओ ने लक्ष्य के अनुरूप और अधिक केन्द्रों के लिए इसी प्रकार एमओयू के लिए प्रयास करने को कहा। बैठक में आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों में निर्धारित मानदंडों की पालना, नवीन आंगनबाड़ी केन्द्रों को क्रियाशील बनाने व प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की प्रगति की समीक्षा के साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों के भवन की मरम्मत एवं सुदृडीकरण और भवन निर्माण के संबंध में भी चर्चा की गई। बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक जय ठागरिया ने विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति का विवरण प्रस्तुत किया। बैठक में शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों सहित बाल विकास परियोजना अधिकारी मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *