आवासीय विद्यालयों के बच्चों को सर्दियों में मिलेगा नहाने का गर्म पानी

17 आवासीय विद्यालयों में जल्द शुरू होंगे सोलर वाटर हीटर-डॉ. चतुर्वेदी

जयपुर, 6 नवम्बर (कासं.)। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों के छात्रावासों में रह रहे बालक व बालिकाओं को सर्दियों में नहाने के लिए गर्म पानी उपलब्ध होगा। इसके लिए 17 आवासीय विद्यालयों के छात्रावासों में सोलर वाटर हीटर लगाये गये हैं जिन्हें 15 दिन में चालू कर दिये जायेंगे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी ने सोमवार को अम्बेडकर भवन सभागार में मुख्यमंत्री बजट घोषणा, मुख्यमंत्री घोषणा व स्वराज संकल्प यात्रा के दौरान की गयी घोषणा के साथ विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनओं की समीक्षा के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने अधिकारियों को मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं के अधूरे प्रकरणों को शीघ्र निस्तारण करने के निर्देश दिये। डॉ. चतुर्वेदी ने बताया कि मुख्यमंत्री बजट घोषणा में प्रदेश के 200 छात्रावासों एवं 17 आवासीय विद्यालयों में सोलर होम लाईट लगाने का लक्ष्य था जिसमें से 133 छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में विद्यार्थियों की सुविधा के लिए होम लाईटें लगाई जा चुकी हैं शेष 63 छात्रावासों व 9 आवासीय विद्यालयों में शीघ्र होम लाईटें लगाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि स्वीकृत छात्रावासों में 32 छात्रावासों के लिए भूमि का आवंटन किया जा चुका है। शेष प्रकरणों में प्राथमिकता से भूमि आवंटन करने के लिए सम्बन्धित जिला कलेक्टरों से बात कर निपटाने तथा छात्रावासों में आधारभूत सुविधाओं के लिए छोटी छोटी कमियों को समय रहते दूर करने के भी निर्देश दिये।

बैठक में आई.आई.टी., आई.आई.एम., मेडिकल के लिए कोचिंग योजना में प्रवेश दिलाने, 2 किलोमीटर से अधिक दूरी के छात्रावासों के बच्चों को स्कूल आने-जाने के लिए साइकिल उपलब्ध कराने, सामान्य वर्ग के आर्थिक पिछडे वर्ग के बच्चों को आर्थिक सहायता देने, लावारिस लाशों के दाह-संस्कार के लिए जिलों में स्वयंसेवी संस्थाओं का चयन करने, जयपुर शहर में पी.पी.पी. मॉडल पर 5 स्टार वृद्धाश्रम की कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिये। बैठक में उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति, पालनहारों को भामाशाह से जोडने, पेंशनरों को खाद्य सुरक्षा योजना के पोर्टल से जोडने, सहयोग एवं उपहार योजना के लम्बित प्रकरणों को तत्परता से निपटाने, पेंशन योजना के पोर्टल पर लम्बित आवेदन पत्रों का निस्तारण, देवनारायण योजना, गुरूकुल योजना, गाडिया लुहार योजना की समीक्षा की गयी। विभाग के निदेशक डॉ. समित शर्मा ने बताया कि विभाग द्वारा वर्ष 2017-18 के बजट का 66 प्रतिशत व्यय किया जा चुका है। विभिन्न योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए नियमित समीक्षा की जा रही है। बैठक में अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) संचिता बिश्नोई, अतिरिक्त निदेशक (पेंशन) डी.सी.चौधरी, अतिरिक्त निदेशक (छात्रवृत्ति) महावीर सिंह, अतिरिक्त निदेशक (देवनारायण) डालचन्द वर्मा, अतिरिक्त निदेशक (सामाजिक सुरक्षा) अशोक जांगिड, सहायक निदेशक सुभाष चन्द्र शर्मा, डॉ. योगेश शर्मा, भगवान सहाय शर्मा, अशिन शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *