दो समानान्तर सरकारों के झगडों से ध्यान हटाने के लिये यूरिया की समस्या बता रहे हैं गहलोत-सैनी

जयपुर, 25 दिसम्बर (एजेन्सी)। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश में चल रही कांग्रेस की समानान्तर दो सरकारों के झगडों से लोगों का ध्यान हटाने के लिये यूरिया खाद को लेकर झूंठे बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो सरकार आपस की लडाई में व्यस्त हो उसके पास किसानों के लिये कहां समय है। सरकार को बने एक पखवाडा बीत गया है लेकिन किसानों की हितेषी होने का दावा करने वाली कांग्रेस सरकार ने अभी तक कृषि मंत्री तक नहीं बनाया है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा है कि सरकार के आंकडे बता रहे हैं कि इस माह दिसम्बर में राजस्थान को 2.70 लाख मैट्रिक टन यूरिया की आवश्यकता थी जिससे कई अधिक मात्रा में केन्द्र सरकार 2.89 मैट्रिक टन यूरिया की राजस्थान में इस माह व्यवस्था करदी है। उन्होंने कहा कि गत 23 दिसम्बर तक राजस्थान में 2 लाख मैट्रिक टन तक यूरिया की जरूरत थी जबकि केन्द्र सरकार ने इससे अधिक 2.57 लाख मैट्रिक टन यूरिया राजस्थान को उपलब्ध करवाया है। सैनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने कृषि पैदावार बढाने के लिये देश के किसानों को समय पर यूरिया उपलब्ध हो सके, इस उद्देश्य से पहली बार नीम कोटेड यूरिया का उत्पादन शुरू किया गया जिससे पूरे देश में कभी भी यूरिया की कमी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार किसानों की सरकार है। जब जब भी किसानों को यूरिया की आवश्यकता होगी उपलब्ध कराया जायेगा। राज्य में यूरिया की कोई समस्या नहीं है। समस्या है राजस्थान की कांग्रेस सरकार के आपसी झगडों की। इस वजह से ही सरकार यूरिया सप्लाई पर ध्यान नहीं दे पा रही और ना ही सही तरीके से मॉनीटरिंग कर पा रही। यूरिया की ये परेशानी इसीलिये हो रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *