नाला निर्माण का मामला अदालत मेें पहुंचा

 

श्रीगंगानगर, 21 दिसम्बर (का.सं.)। पुरानी आबादी में ट्रक यूनियन पुलिया के नजदीक मिनी मायापुरी ऑटोमोबाइल मार्केट के साथ होते पटवार ट्रेनिंग स्कूल तक जल निकासी के लिए नगरपरिषद द्वारा बनवाये जा रहे नाले के निर्माण का विवाद शुक्रवार को अदालत में पहुंच गया। इस गली के निवासी तथा कैमिस्ट एसोसिएशन के सचिव मदन अरोड़ा तथा सेवक साउंड वाले सुरेश रहेजा ने मोहगेवालों की तरफ से अदालत में इस्तगासा दायर किया गया है, जिसमें नाले का निर्माण गैरकानूनी रूप से और गलत तरीके से बनाये जाने का आरोप लगाते हुए इस पर स्थगन आदेश देने का आग्रह किया गया है। इस्तगासा पर आगामी सुनवाई 24 दिसम्बर को मुकर्रर की गई है। इस बीच नगरपरिषद से इस नाला निर्माण की फाइल अभी भी गायब है। इसे लेकर निर्माण शाखा में हड़कम्प मचा हुआ है। जानकार सूत्रों के मुताबिक निर्माण शाखा के ही किसी कर्मचारी ने यह फाइल कथित रूप से ठेकेदार को दे दी। ठेकेदार ने नगरपरिषद के दो अभियंताओं के साथ सांठ-गांठ करके फाइल में लगे हुए स्वीकृत नक्शे-ड्राइंग को बदल दिया। इसकी जगह नई ड्राइंग लगा दी। मोहगे वालों का कहना है कि नगरपरिषद ने यह नाला गली में जिस तरफ बनाना मंजूर किया था, उसे कतिपय पार्षदों के दबाव में आकर ठेकेदार ने दूसरी तरफ से बनवाना शुरू कर दिया। नाले का निर्माण सीधा न करवाकर कुछ लोगों के मकानों-भवनों को राहत देने के लिए उसे टेढ़ा-मेढ़ा कर दिया। इस घपलेबाजी को लेकर ठेकेदार भी पूरी तरह से संदेह के घेरे में है। नाला निर्माण की गुणवत्ता पर भी मोहगे के लोग संदेह व्यक्त कर रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *