दुष्कर्म में असफल रहने पर बहन-दादी की नृशंस हत्या

श्रीगंगानगर, 9 जुलाई (का.सं.)। दुष्कर्म करने में असफल रहने पर एक युवक ने अपनी चचेरी बहन और वृद्ध दादी की सब्जी काटने वाले चाकू से गले रेतकर हत्या कर दी। पुलिस ने 24 घंटे से पहले ही इस दोहरे हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाते हुए आरोपित ट्रक ड्राइवर युवक को सोमवार अपराह्न गिरफ्तार कर लिया। उसने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया। उसके पकड़े जाने पर ही खुलासा हुआ कि शराब के नशे में उसने चचेरी बहन को अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की थी, लेकिन असफल रहने पर उसका गला काट दिया। वह कमरे से बाहर आया, तो वृद्ध दादी शौचालय से बाहर आ रही थी, जिसने उसे खून से सने कपड़ों-चाकू के साथ देख लिया। इस कारण उसकी भी हत्या कर दी। चूरू जिले में रतनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव खोतड़ी में हुए इस दोहरे हत्याकांड मेें इलाके के जनमानस को झिझोड़ दिया है। रतनगढ़ के डीएसपी नारायणदान ने बताया कि आरोपित लक्ष्मण (28) पुत्र किशनलाल जाट को हिरासत मेें ले लिया है,जोकि बीकानेर में एक गैस रिफ्लिंग प्लांट से सिलेण्डरों की ट्रक में ढुलाई का काम करता है। उन्होंने बताया कि मृतका मोहिनीदेवी (75) और उसकी 19 वर्षीय विवाहित पौती सोनू उर्फ संतोष (पुत्री कमलेश कुमार) के शव आज दोपहर पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिवार वालों को सौंप दिये गये। डीएसपी ने बताया कि रविवार देर शाम लगभग साढ़े 6 बजे सूचना मिली थी कि खोतड़ी में एक घर में अलग-अलग कमरों में दादी और पौती के खून से सने शव पड़े हैं।थानाप्रभारी रानीदान और डीएसपी नारायणदान ने दलबल सहित जाकर घटनास्थल का अवलोकन किया। चूरू जिला मुख्यालय से एफएसएल, एमओबी और डॉग स्क्वायड की टीमों को रवाना करने के साथ पुलिस अधीक्षक राहुल बारहठ भी देर रात को खोतड़ी में घटनास्थल पर पहुंच गये। रात को ही पुलिस ने गहन जांच-पड़ताल शुरू कर दी। आज सुबह अज्ञात जने पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। डीएसपी ने बताय कि आज दोपहर जब शवों के पोस्टमार्टम करवाये जा रहे थे, तभी मुखबिरों से प्राप्त हुई सूचनाओं के आधार पर लक्ष्मण को हिरासत में ले लिया गया, जो मृतका मोहिनीदेवी के ही दूसरे पुत्र किशनलाल का बेटा है। मोहिनीदेवी के पांच बेटे हैं। वह सबसे छोटे बेटे कमलेश के साथ रहती थी। मोहिनीदेवी का एक बेटा हनुमानगढ़ जिले में गोलूवाला क्षेत्र में रहता है। आरोपित लक्ष्मण का पिता, उसके परिवार के सदस्य और उसकी पत्नी आदि गोलूवाला गये हुए थे, जहां कोई शादी समारोह था। कल रविवार दोपहर को लक्ष्मण अपने घर आया तो उसके यहां कोई नहीं था। तब वह पड़ोस में दादी के यहां खाना खाने के लिए आया। उस समय वह बुरी तरह से शराब के नशे मेंंं था। उसने अपनी चचेरी बहन सोनू से खाना देने के लिए कहा। सोनू ने उसे खाना बनाकर दिया। इस दौरान कमरे में बैठकर खाना खाते समय लक्ष्मण की अपनी चचेरी बहन पर ही नियत डोल गई। करीब 19 वर्षीय सोनू उर्फ संतोष चूरू जिले के ही सहनाली गांव में विवाहित है, जो पिछले कुछ समय से अपने पीहर में रह रही थी। डीएसपी के अनुसार लक्ष्मण ने सोनू को दबोच लिया और उसके साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया, लेकिन सोनू ने उसका कड़ा विरोध किया। सोनू ने लक्ष्मण को धमकाया कि वह उसकी यह करतूत घर-परिवार में सभी को बतायेगी। तब लक्ष्मण बोखला गया। वह रसोई में रखे सब्जी काटने वाले चाकू को ले आया, जिससे उसने सोनू का ही गला रेत दिया। उसके शरीर पर और भी वार किये। इसी बीच जब वह भागने लगा, तब घर में सामने ही शौचालय से दादी आते हुए दिखाई दे गई। लक्ष्मण ने पुलिस को बताया कि इस कारण उसे दादी को भी मारना पड़ा। डीएसपी ने बताया कि पहले धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें लक्ष्मण के इस कबूलनामे के बाद दुष्कर्म के प्रयास की धारा 376/511 भी जोड़ दी गई है। उसे कल कोर्ट में पेश किया जायेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *