खुलासा- इंटरनेट यूज कर रहे कर्मचारियों से कंपनी पर मंडरा रहा ये खतरा!

 

लीसेस्टर। पिछले साल इतिहास के सबसे खतरनाक साइबर अटैक रैनसमवेयर ने दुनिया भर की कंपनियों को भय में डाल दिया था। उसके बाद से सभी कंपनियां साइबर सिक्योरिटी को लेकर कई तरह की सुरक्षा प्रणालियां अपना रही हैं। लेकिन एक शोध में सामने आया है कि कंपनियों को साइबर अटैक का खतरा बाहर से नहीं बल्कि खुद ऑफिस में काम कर रहे कर्मचारियों से है। दरअसल इस रिसर्च में कहा गया है कि कंपनियों को साइबर सुरक्षा का खतरा अपने ही कर्मचारियों से होता है क्योंकि वो अपनी निजी जानकारियां शेयर करने के लिए पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करते हैं, इंटरनेट पर पासवर्ड शेयर करते हैं और साथ ही सोशल मीडिया अकाउंट को खुला छोड़ देते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ऑफिस इंटरनेट के जरिए हो रही इसी लापरवाही के चलते पूरी कंपनी पर साइबर सिक्योरिटी का खतरा मंडराने लगता है।

पर्सनल कामों के लिए होता है ऑफिस इंटरनेट का इस्तेमाल: शोध करने वाली संस्थान ‘My research’ द्वारा जारे किए गए नए अध्ययन में सामने आया है कि ऑफिस इंटरनेट को निजी कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिससे पूरी कंपनी की साइबर सिक्योरिटी खतरे में पड़ जाती है। इस अध्ययन में ये पता चला है कि ज्यादातर कर्मचारी जरूरत से ज्यादा समय ऑफिस इंटरनेट पर अपना खुद का काम करने, वीडियो देखने और यहां तक की पॉर्नोग्राफी देखने में बिताते हैं। 45 प्रतिशत लोगों ने माना है कि वो ऑफिस के इंटरनेट का इस्तेमाल पर्सनल कामों के लिए करते हैं जो काम से भटकाव का सबसे बड़ा कारण है।

नियमों से अनजान रहते हैं कर्मचारी: इस शोध में सामने आया है कि औसतन हर कर्मचारी एक दिन में दो घंटे से ज्यादा समय इंटरनेट पर निजी काम में बर्बाद कर देता है। इस शोध में 338 पार्ट टाइम और फुल टाइम काम करने वाले लोगों से इंटरनेट के इस्तेमाल को लेकर जानकारी ली गई। इसमें देखा गया कि जो लोग पर्सनल काम में इंटरनेट बर्बाद करते हैं उन्हें कंपनी के इंटरनेट प्रोटोकॉल और नियमों की कोई जानकारी नहीं होती। इसी के कारण वो पूरे आईटी सिस्टम को ही खतरे में डाल देते हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *