नडाल ने फेडरर को ग्रैंडस्लैम में 11 साल में दी सबसे करारी शिकस्त, 12वीं बार फ्रेंच ओपन फाइनल में

 

पेरिस, 8 जून (एजेंसी)। गत चैम्पियन राफेल नडाल शुक्रवार को फ्रेंच ओपन सेमीफाइनल में रोजर फेडरर को करारी शिकस्त देकर रिकार्ड 12वें रोलां गैरां खिताब से महज एक कदम दूर हैं। नडाल ने अपने पुराने प्रतिद्वंद्वी फेडरर को ग्रैंडस्लैम में 11 साल में सबसे बुरी तरह हराया। फाइनल में नडाल का सामना शीर्ष रैंकिंग पर काबिज नोवाक जोकोविच और चौथी वरीयता प्राप्त आस्ट्रियाई डोमिनिक थिएम के बीच खेले जा रहे दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। बारिश के कारण इस मैच को बीच मे रोकना पड़ा। खेल रोके जाने तक थिएम ने तीसरे सेट में जोकोविच पर 3-1 की बढ़त बना ली थी। उन्होंने पहला सेट 6-2 से जीता जबकि दूसरा सेट जोकोविच ने 6-3 से अपने नाम किया।
इससे पहले तैंतीस वर्षीय नडाल ने कोर्ट फिलिप चार्टियर पर अंतिम चार के मुकाबले में फेडरर को 6-3 6-4 6-2 से आसानी से मात दी। इस तरह नडाल फ्रेंच ओपन में 12वें फाइनल में पहुंचे और वह रोलां गैरां पर फाइनल में कभी नहीं हारे हैं। नडाल ने कहा कि रोजर के साथ यहां खेलना शानदार है। उन्होंने कहा कि उन्हें बधाई, वह 37 साल की उम्र में भी शानदार हैं। पेरिस में खेल प्रशंसकों को मैं शुक्रिया कहता हूं क्योंकि मेरे लिये एक अन्य फाइनल खेलना बेहतरीन होगा। दूसरी वरीय खिलाड़ी का पेरिस की बजरी पर जीत-हार का 92-2 का शानदार रिकार्ड है। उन्होंने फेडरर के साथ छठी भिड़ंत में इतनी ही जीत हासिल की हैं। नडाल ने इस तरह फेडरर के खिलाफ रिकार्ड 24-15 कर लिया है और क्ले कोर्ट पर यह 14-2 हो गया है। वर्ष 2008 के एकतरफा रोलां गैरां फाइनल में फेडरर महज चार गेम में हार गये थे और महज नौ गेम का मतलब है कि उसके बाद यह उनकी ग्रैंडस्लैम में सबसे करारी शिकस्त है। नडाल ने इस दौरान केवल 19 सहज गलतियां कीं और 33 विनर जमाये। वहीं फेडर के नाम केवल 25 विनर रहे। इस हार से फेडरर मैड्रिड में 2009 के बाद क्लेकोर्ट पर नडाल पर पहली जीत का इंतजार कर रहे हैं। स्पेन के इस धुरंधर ने तेज हवाओं के बावजूद पहले तीन गेम अपने नाम कर शानदार शुरूआत की, जिसके बाद फेडरर उनकी सर्विस तोड़ी। पर नडाल ने छह गेम में अपनी बढ़त 4-2 कर ली जिसके बाद वह फारहैंड शाट नेट पर गिरा बैठे। दर्शकों ने फेडरर को वापसी के लिये प्रेरित किया जिसके बाद उन्होंने सेट प्वाइंट बचाया। पर नडाल ने बैकहैंड विनर से शुरूआती सेट अपने नाम किया। दूसरे सेट में स्विट्जरलैंड के खिलाड़ी ने पहले दो गेम जीत कर शुरूआत की, पर वह नडाल के मजबूत शाट ने उन्हें पछाड़ा। फेडरर अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे थे और दोनों 4-4 से बराबरी पर पहुंच गये जिसके बाद गत चैम्पियन ने अगले दो गेम हासिल कर दूसरा सेट जीत लिया। फेडरर के हाथ से जीतने का मौका तेजी से निकल रहा था जिसमें उन्हें गुस्से में गेंद हिट करने के लिये चेतावनी भी मिली और इससे नडाल को तीसरे सेट के तीसरे गेम में ब्रेक करने का मौका भी मिल गया। लगातार तीसरे साल ट्राफी हासिल करने की कोशिश कर रहे नडाल ने इसके बाद सेट अपने नाम करने में जरा देर नहीं लगायी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *