ऑलराउंडर अक्षर पटेल कोरोना पॉजिटिव पाए गए, सीएसके की कंटेंट टीम का एक सदस्य भी संक्रमित

आईपीएल से पहले दिल्ली कैपिटल्स को झटका

मुंबई (एजेंसी)। आईपीएल-2021 के आगाज से सिर्फ 6 दिन पहले दिल्ली कैपिटल्स को बड़ा झटका लगा है। टीम के ऑलराउंडर अक्षर पटेल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। कैपिटल्स के मैनेजमेंट ने अक्षर के कोरोना संक्रमित होने की खबर की पुष्टि कर दी है। दिल्ली कैपिटल्स की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दुख की बात है कि अक्षर कोविड पॉजिटिव हो गए हैं। उन्हें बीसीसीआई के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आइसोलेट कर दिया गया है। दूसरी ओर चेन्नई सुपर किंग्स की कंटेंट टीम का एक सदस्य भी पॉजिटिव पाया गया है। इस बारे में चेन्नई का कहना है कि वह सदस्य किसी भी खिलाड़ी या सपोर्ट स्टाफ के संपर्क में नहीं आया था और उसे पूरी तरह आइसोलेट कर दिया गया है। दिल्ली का पहला मैच सीएसके के साथ 10 अप्रैल को मुंबई में होना है। अक्षर दूसरे ऐसे खिलाड़ी हैं जो कोरोना संक्रमित हुए हैं। उनसे पहले कोलकाता नाइटराइडर्स के नीतीश राणा भी पॉजिटिव हो गए थे। नीतीश के संक्रमित होने की खबर सबसे पहले भास्कर ने ही ब्रेक की थी। नीतीश 22 मार्च को ही पॉजिटिव हुए थे और 1 अप्रैल की आई रिपोर्ट में वे निगेटिव पाए गए। अक्षर ने 29 मार्च को होली पर फैंस को अपनी पुरानी तस्वीर के साथ शुभकामनाएं दी थीं। अक्षर ने लिखा था कि इस बार की होली क्वारैंटाइन में बीतेगी। इसलिए होली की पुरानी तस्वीर पोस्ट कर रहा हूं। दिल्ली कैपिटल्स के मुताबिक अक्षर ने 28 मार्च को कोविड निगेटिव रिपोर्ट के साथ मुंबई में टीम को रिपोर्ट किया था। इसके बाद उन्हें 7 दिन के अनिवार्य क्वारैंटाइन में रखा गया। दूसरी कोविड जांच में वे पॉजिटिव पाए गए हैं।
आईपीएल के लिए बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक कोरोना संक्रमित खिलाडिय़ों या सदस्यों को बायो बबल से बाहर कम से कम 10 दिन तक आइसोलेट रहना होगा। आइसोलेशन के दिनों की गिनती सिंप्टम्स की शुरुआत या सैंपल कलेक्शन के दिन से होगी। अक्षर पटेल आईपीएल में अब तक 97 मैचों में 80 विकेट ले चुके हैं। वे 2013 सीजन में पहली बार मुंबई इंडियंस की टीम में शामिल हुुए थे। इसके बाद वे किंग्स इलेवन पंजाब और फिर दिल्ली कैपिटल्स का हिस्सा बने। 2020 सीजन में उन्होंने 15 मैचों में 9 विकेट लिए थे। टीम में उनकी भूमिका रन रोकने की रही है। इस काम को उन्होंने बखूबी अंजाम भी दिया है। पिछले सीजन में उनका इकोनॉमी रेट सिर्फ 6.41 का रहा था। अक्षर फरवरी-मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ हुई चार टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे थे। चोट के कारण वे पहला टेस्ट मैच नहीं खेल पाए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने तीन टेस्ट मैच में 27 विकेट लिए थे। इसके बाद हुई टी-20 सीरीज में उन्हें सिर्फ 1 मैच खेलने का मौका मिला। वनडे सीरीज में वे भारतीय टीम का हिस्सा नहीं थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *