जिले की मांग को लेकर उपखण्ड कार्यालय के समक्ष धरना जारी

 

अनूपगढ़, 2 मार्च (एजेन्सी)। अनूपगढ़ को जिला बनाओं संघर्ष समिति द्वारा लगातार धरने के रूप में अपनी मांग को लेकर संघर्ष किया जा रहा है। इस धरने को 8 वां वर्ष चल रहा है। आज धरना स्थल पर मौजूद समिति के सदस्य जरनैल सिह जम्मू ने कहा कि सरकार चाहे कुछ भी कहे लेकिन सरकार द्वारा जिले के लिए मांगे जाने वाले सभी मापदण्डों पर अनूपगढ़ खरा उतर रहा है। उन्होंने बताया कि श्रीगंगानगर जिले और बीकानेर सम्भाग का सबसे महत्वपूर्ण शहर अनूपगढ़ सीमावर्ती क्षेत्र है तथा जिले से जहां इसकी दूरी करीब 121 किलोमीटर है तो वहीं सम्भाग मुख्यालय से अनूपगढ़ की दूरी 152 किमी से भी अधिक है तथा हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय से भी लगभग 135 किमी की दूरी पर बसा है अनूपगढ़। वर्तमान में अनूपगढ़ श्रीगंगानगर जिले में है तथा जिला मुख्यालय से अनूपगढ़ की दूरी अधिक होने के कारण जिला स्तर के अधिकारियों का लाभ आम जनता को समय पर नहीं मिल पाता। लोगों को जिला कलैक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों से काम पडऩे पर यात्रा के दौरान होने वाली शारीरिक मानिसक व आॢथक परेशानी का सामना करना पड़ता है। अनूपगढ़ के अलावा घड़साना, रावला क्षेत्र के लोगों को बहुत अधिक परेशानी झेलनी पड़ रही है पिछले करीब 20 सालों से अनूपगढ़, घड़साना, रावला, रामसिहपुर तथा श्रीविजयनगर के लोग अनूपगढ़ को जिला बनाने की मांग कर रहे है तथा जनता की यह मांग उचित और जायज भी है। अनूपगढ़ जिला बनाओ संघर्ष समिति अनूपगढ़ को जिला बनाने के लिए 8 वर्षों से संघर्षरत है। इन 8 वर्षों के दौरान संघर्ष समिति द्वारा कभी रक्त दान शिविरों का आयोजन करवाया गया तो कभी बाजार बंद करवाए गए। कभी कैंडल मार्च निकाला गया तो कभी भरपूर ठंड में जयपुर तक पैदल यात्रा करके इस मांग को राज्य सरकार के समक्ष रखा गया। इस अभियान में समिति को चाहिए कि अनूपगढ़, घड़साना, रावला, श्रीविजयनगर, रामसिहपुर, रायसिहनगर के अलावा अन्य प्रस्तावित क्षेत्र से बसों में लोगों को जयपुर जाकर मुख्यमंत्री के समक्ष पेश करना चाहिए, ताकि आमजन की भावना का सरकार सही आंकलन कर सके। इस अभियान में समस्त मंडियों के व्यापारीक संगठनों से सहयोग लिया जा सकता है। आमजन को इस अभियान में सकारात्मक सोच के साथ सहयोग प्रदान करना होगा तभी यह अभियान सिरे चढ़ पाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *