दस रुपए में भरपेट भोजन, मंगलमय सेवा संस्थान करेगी संचालन

राज्य में पहली बार नागौर जिला प्रशासन का नवाचार

जयपुर, 29 जनवरी (एजेन्सी)। नियमित जनसुनवाई सहित विभिन्न राजकीय कार्यों से दूरदराज से आने वाले ग्रामीणों के लिए अब नागौर जिला कलक्ट्रेट परिसर में ही भोजन की व्यवस्था रहेगी और वो भी मात्र दस रुपए की रियायती दर में। राज्य में पहली बार नागौर जिला कलक्ट्रेट परिसर में ही भोजनशाला शुरू की गई है, इसका उद्घाटन सोमवार को जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम व नागौर के विधायक हबीबुर्रहमान ने किया। इसका संचालन मंगलमय सेवा संस्थान द्वारा किया जाएगा। जिला कलक्टर द्वारा शुरू किए गए इस नवाचार से दूरदराज से आने वाले परिवादी ग्रामीणों को 10 रुपए में शुद्ध भोजन मिलने पर उन्हें आर्थिक राहत मिलेगी। इस मौके पर जिला कलक्टर ने कहा कि जनसुनवाई सहित विभिन्न राजकीय कार्यों और न्यायालयों में अपने परिवाद को लेकर तारीख पेशी पर दूरदराज से आने वाले ग्रामीणों के लिए भोजनशाला खोलना परोपकारी कार्य है, इसके लिए मंगलमय सेवा संस्थान को साधुवाद है। उन्होंने कहा कि यह परोपकारी व कल्याणकारी कार्य है और इसके लिए मंगलमय सेवा संस्थान को भविष्य में जो सहयोग चाहिए, वो जिला प्रशासन की ओर से दिया जाएगा। इस अवसर पर विधायक हबीबुर्रहमान ने कहा कि कलक्ट्रेट परिसर में रियायती दर पर भोजन की सुविधा मुहैया करवाकर जिला प्रशासन ने काबिलेतारीफ काम किया है। मंगलमय सेवा संस्थान ने जिला कलक्टर के इस नवाचार में आगे बढ़कर सहयोग किया, संस्था इसके लिए धन्यवाद की पात्र है। उन्होंने मंगलमय सेवा संस्थान की ओर से राजकीय जेएलएन अस्पताल में संचालित की जा रही भोजनशाला की व्यवस्थाओं की भी प्रशंसा की। मंगलमय सेवा संस्थान के अध्यक्ष पारसमल पडि़हार ने जिला कलक्टर सहित सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया।

कलक्टर ने कराया बालिका को भोजन : भोजनशाला में पहले दिन अपना आधार कार्ड बनवाने आई बसवाणी गांव की दस वर्षीय बालिका सोनू को जिला कलक्टर ने अपने हाथों से भोजन कराया। सोनू यहां अपनी मौसी के साथ अटल सेवा केन्द्र में आधार कार्ड बनाने आई थी। इसके बाद यहां दूरदराज क्षेत्रों से आए ग्रामीणों ने भी भोजन किया। पहले दिन जिला प्रशासन के अधिकारियों ने भी भोजनशाला में लापसी और रोटी-सब्जी का स्वाद चखा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *