प्रत्यक्ष कर मद में 11.5 लाख करोड़ संग्रह की उम्मीद-सीबीडीटी

नई दिल्ली। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने भरोसा जताया कि चालू वित्त वर्ष में प्रत्यक्ष कर संग्रह 11.5 लाख करोड़ रुपये को पार कर जाएगा। चालू वित्त वर्ष के लिए बजट पेश करते हुए सरकार ने 14.3 फीसद बढ़ोतरी के साथ प्रत्यक्ष कर संग्रह 11.5 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच जाने की उम्मीद जताई थी।चंद्रा ने कहा कि सरकार इस लक्ष्य को निश्चित तौर पर हासिल कर लेगी। हालांकि कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स के आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून, 2018 के दौरान प्रत्यक्ष कर संग्रह 1.54 लाख करोड़ रुपये रहा था।चंद्रा ने बताया कि चालू वित्त वर्ष में अब तक टैक्स रिफंड का आंकड़ा लगभग 95,000 करोड़ रुपये रहा है। सरकार ने डायरेक्ट टैक्स रिफंड मामलों को तेजी से निपटाने के लिए इस वर्ष पूरे जून के दौरान एक विशेष अभियान चलाया था। वित्त मंत्रालय ने कुछ समय पहले के एक बयान में कहा था कि 30 जून तक लंबित डायरेक्ट टैक्स रिफंड के करीब 99 फीसद मामलों का निपटारा और भुगतान हो गया था।पिछले वित्त वर्ष (2017-18) में प्रत्यक्ष कर संग्रह 18 फीसद से ज्यादा बढ़कर 10.03 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया था। चंद्रा ने कहा कि सरकार को वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे से करीब 7,500 करोड़ रुपये हासिल हुए हैं। वालमार्ट ने अगस्त के मध्य में फ्लिपकार्ट सौदा पूरा किया था। कंपनी को फ्लिपकार्ट से निकलने वाले शेयरधारकों को भुगतान करते वक्त भारतीय नियमों के हिसाब से रिटेंशन टैक्स वसूलना था। लेकिन कंपनी ने 44 में से 34 शेयरधारकों से अभी तक टैक्स वसूली नहीं की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *