डॉक्टर समित शर्मा ने गांधी नगर एवं झालाना डूंगरी छात्रावासों में की शिरकत

प्रदेश के सभी आवासीय विद्यालयों एवं छात्रावासों में हुई अभिभावकों की बैठक
जयपुर, 7 अक्टूबर (कासं)। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉक्टर अरुण चतुर्वेदी के निर्देश पर शनिवार को विभाग द्वारा प्रदेश में संचालित सभी 800 छात्रावासों एवं 22 आवासीय विद्यालयों में अभिभावकों की बैठक हुई, जिसमें छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में बालक बालिकाओं को दी जाने वाली व्यवस्थाओं एवं सुविधाओं की जानकारी अभिभावको दी।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक डॉक्टर समित शर्मा ने जयपुर में गांधीनगर स्थित अनुसूचित ,जाति -जनजाति बालिका छात्रावास में अभीभावको की हुई बैठक में भाग लिया। इस अवसर जयपुर शहर के उप निदेशक डॉक्टर अजीत शर्मा एवं छात्रावास अधीक्षिका ने अभिभावकों एवं बालिकाओं की उपस्थिति में छात्रावासों में दी जाने वाली रहने, खाने पीने और अन्य सुविधाओं की विस्तार से जानकारी दी तथा पाई जाने वाली कमियों को जल्दी दूर करने का आश्वासन दिया ।इस अवसर पर डॉक्टर समित शर्मा ने कहा कि प्रदेश में यह अभिनव प्रयास किया गया है की सरकार द्वारा बालिकाओं एवं बालकों को छात्रावास व आवासीय विद्यालयों में दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी अभिभावको को मिले ।इससे हमारी छात्रावासों व आवासीय विद्यालयों से अभिभावक जुड़ेंगे और सुविधाओं को बेहतर बनाया जा सकेगा। इसी प्रकार निदेशक डॉक्टर शर्मा ने झालाना डूंगरी स्थित अंबेडकर बालक छात्रावास मैं भी आयोजित अभिभावकों की बैठक में भाग लिया ।बैठक में बच्चों को आह्वान किया की लगन से यहां रहकर शिक्षा ग्रहण करें अपने लक्ष्य को प्राप्त करें तथा विभाग द्वारा दी जारी सुविधाओं का पूरा लाभ उठाएं। डॉक्टर शर्मा ने बालिका छात्रावासों एवं झालाना डूंगरी छात्रावास में सुझाव पेटिका भी विमोचन किया ।उन्होंने कहा कि कोई भी छात्र -छात्रा अपने सुझाव इस पेटी में डाल सकेंगे। इस पेटी को जिलाधिकारी खोलेगा और जो भी समस्या या सुझाव आएंगे उनका पूरा समाधान किया जाएगा ।इस अवसर पर बालिका छात्रावास में भामाशाह द्वारा 215 लीटर का फ्रिज, पांच पंखे एवंमिक्सी दिए जाने पर भामाशाहों को माला पहनाकर सम्मान सम्मान किया । उन्होंने अभिभावको आवाहन किया कि वह भी छात्रावासों में कुछ न कुछ योगदान दें जिससे छात्रावास से बेहतर जुड़ाव महसूस हो सके। इसी प्रकार झालाना डूंगरी बालक छात्रावास में भी विभिन्न भामाशाहो द्वारा बच्चों के लिए खेल सामग्री एव डिक्शनरी आदि देने पर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर निदेशक डॉक्टर समित शर्मा ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि रसोइयों और चौकीदारों का बकाया भुगतान दिवाली पूर्व करना सुनिश्चित करें जो अधिकारी भुगतान करने में देरी या लापरवाही करेगा उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। निर्देशक ने अभिभावकों की बैठक के बाद झालाना डूंगरी छात्रावास का अभिभावक के साथ निरीक्षण किया । वहां पर किचन में रखी खाद्य सामग्री आटा, दाल ,नमक मिर्ची एवं धनिया आदि की गुणवत्ता को परखा। अभिभावक बैठक मैं छात्रावासों रह कर अच्छे अंक प्राप्त करने वाले बालक बालिकाओं को पुरस्कार देकर भी सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *