1 दिन में 6 कप कॉफी से ज्यादा पीना यानी दिल की बीमारी का खतरा

क्या कॉफी आपकी पसंदीदा ड्रिंक है? क्या आप भी ऑफिस में नींद आने पर, थकान लगने पर या फिर दोस्तों संग गप्पे लड़ाने के लिए कॉफी का ही इस्तेमाल करते हैं? अगर हां तो अब आपको अपने कॉफी इनटेक को लिमिट करने की जरूरत है। क्यों, यहां जानें। भले ही सिरदर्द, डिप्रेशन और टाइप-2 डायबीटीज जैसी बीमारियों में कॉफी पीना फायदेमंद हो और कॉफी आपकी कितनी ही पसंदीदा ड्रिंक क्यों न हो लेकिन इसमें भी कोई शक नहीं कि किसी भी चीज की अति बुरी होती है। हाल ही में हुई एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि अगर आप एक दिन में 6 कप से ज्यादा कॉफी पीते हैं तो आपको दिल से जुड़ी बीमारियां होने का खतरा 22 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में यह स्टडी प्रकाशित हुई है।
दिल से जुड़ी बीमारी और कॉफी के सेवन के बीच संबंध
विश्व स्वास्थ्य संगठन (ङ्ख॥ह्र) की मानें तो कार्डिवस्क्युलर डिजीज यानी दिल से जुड़ी बीमारियां दुनियाभर में लोगों की मौत की सबसे बड़ी वजह है जिसे रोका जा सकता है। अकेले ऑस्ट्रेलिया में हर छठा व्यक्ति दिल की बीमारी से प्रभावित है। ऑस्ट्रेलियन सेंटर फॉर प्रीसिशन हेल्थ के अनुसंधानकर्ता डॉ ऐंग जोऊ और एलिना हाइपोनेन ने इस स्टडी के जरिए यह जानने की कोशिश की कि लंबे वक्त तक कॉफी का सेवन करने और दिल से जुड़ी बीमारियों के बीच क्या कनेक्शन है। उनकी यह स्टडी इस बात को साबित करती है कि एक्सेस कैफीन के सेवन से हाई ब्लड प्रेशर का खतरा रहता है जो दिल की बीमारी अगुआ है।
हेल्दी हार्ट और हेल्दी ब्लड प्रेशर के लिए ज्यादा कॉफी न पिएं
हाइपोनेन कहती हैं, ‘कॉफी का सेवन दुनियाभर में स्टिम्यूलेंट यानी उत्तेजक के रूप में किया जाता है। कॉफी पीने से नींद भाग जाती है, आप तरोताजा महसूस करते हैं, एनर्जी लेवल बेहतर होता है और फोकस करने में मदद मिलती है। लेकिन लोग हमेशा पूछते हैं कि आखिर कितनी कैफीन को ज्यादा कैफीन माना जाए। लिहाजा अपने हार्ट और ब्लड प्रेशर को हेल्दी रखने के लिए बेहद जरूरी है कि आप अपने कॉफी इनटेक को लिमिट करें और एक दिन में 6 कप से कम कॉफी ही पिएं। हमारी स्टडी में हमने जो डेटा इक्_ा किया उसके मुताबिक 6 कप के बाद कैफीन का कार्डियोवस्क्युलर सिस्टम पर नकारात्मक असर पडऩे लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *