पानी की कमी से क्षेत्र का आॢथक ढांचा बिगड़ गया है : दुग्गल

 

अनूपगढ़, 21 अक्टूबर (एजेन्सी)। इंदिरा गांधी नहर परियोजना के प्रथम चरण क्षेत्र के महत्वपूर्ण इलाके अनूपगढ़ शाखा की मंडियों अनूपगढ़, घड़साना तथा रावला क्षेत्र में फसलों की बिजाई के लिए पानी की उपलब्धता पर्याप्त एवं समय पर नहीं होने के कारण क्षेत्र का आॢथक ढांचा पूरी तरह से बिगड़ गया है। जिसके लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह से उत्तरदायी है। यह बात आज प्रेस के साथ बातचीत करते हुए अनूपगढ़ के पूर्व विधायक एवं माकपा नेता पवन दुग्गल ने कही। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सिचाई पानी की लगातार कमी से किसानों के साथ-साथ व्यापारी वर्ग को भी व्यापार चलाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि किसानों और व्यापारियों का आपसी सहयोग आॢथक ढांचा बिगडऩे के कारण लगभग समाप्त सा हो गया है। दुग्गल ने कहा कि आढ़त का व्यापार करने वाले व्यापारी के समक्ष भारी मुसीबत खड़ी हो चुकी है, क्योंकि उसे आढ़त का व्यवसाय चलाने के लिए किसानों को उधारी के रूप में लाखों रुपया बांटना पड़ता है। उदाहरण के रूप में मान लो एक व्यापारी 100 किसानों को 10-10 हजार रुपए उधार देता है, जिस पर उसके घर से 10 लाख रुपए का वितरण उधार के रूप में किसानों को हो जाता है, जबकि मात्र 10 हजार रुपए में किसानों की खेती सम्बंधी आवश्यकता पूरी नहीं हो पाती, जिससे किसान व्यापारी की उधारी समय पर नहीं चुका पाते और व्यापारी का आॢथक ढांचा बिगड़ जाता है। पूर्व विधायक ने कहा कि यह स्थिति अनूपगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पिछले काफी समय से बनी हुई तथा इसके लिए रा’य सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार है। उन्होंने भाजपा सरकार पर किसानों, मजदूरों तथा व्यापारियों के साथ-साथ प्रत्येक की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए सरकार को जन विरोधी करार दिया और कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में जनता भाजपा को सबक सिखाकर सत्ता से बाहर कर देगी। दुग्गल ने भाजपा-कांग्रेस को एक ही थैली के चट्टे-बट्टे बताते हुए कहा कि विकास के नाम दोनों ही पाॢटयों के शासन में भारी भ्रष्टाचार होता रहा है, जिससे किसानों के साथ-साथ गरीब वर्ग का शोषण हुआ है। भाजपा व कांग्रेस ने हर बार प्रदेश की जनता को गुमराह करके वोट हासिल किए हैं। उन्होंने कहा कि अनूपगढ़ विधानसभा क्षेत्र में इस बार मुख्य रूप से उनका मुकाबला भाजपा प्रत्याशी के साथ होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *