निर्माणाधीन रेल्वे अण्डर पास से हो सुगम आवागमन: भागीरथ चौधरी

जयपुर, 10 जुलाई (का.सं.)। अजमेर लोकसभा सांसद श्री भागीरथ चौधरी ने बुधवार को लोकसभा में बजट सत्र के दौरान शुन्यकाल में लोकमहत्व के अविलंबनिय मुद्दों के तहत प्राथमिकता के आधार पर नाम निकलने पर संसदीय क्षेत्र अजमेर में डेडीकेटेड फ्रेंट कोरीडोर के तहत निर्माणाधीन रेलवे अण्डरपासों में आये दिन वर्षा का पानी भर जाने से आमजन को हो रही असुविधा का मुद्दा सदन में उठाया और सदन में बताया कि अजमेर में सरकार की दिल्ली-मुबई मालाभाडा गलियारा योजना के तहत डेडीकेटेड फ्रेंट कोरीडोर का कार्य गत वर्षो से प्रगतिरत है। उक्त योजना के तहत इस क्षेत्र में आने वाले गांवो एंव शहरी क्षेत्र के रेलवे स्टेशनों के आस-पास में एवं पूर्व स्थापित अण्डरपासों का चौडाईकरण, लम्बाईकरण एंव आधुनिकरण का काम किया जा रहा है। ताकि ग्रामीणों , राहगीरों के साथ-साथ पशुपालकों को भी आवाजाही के लिए सुगम एंव सुलभ आवागमन का मार्ग उपलब्ध हो सकें । लेकिन अभी देखा गया है कि बरसात के इन दिनों में वर्षा होने से अधिकाशत: अण्डरपासों की स्थिति अत्यन्त विकट सी हो गई है अण्डरपासो के अन्दर एंव बाहर के आस-पास के क्षेत्रों मे जगह-जगह पानी भर जाने से स्थानीय वाशिन्दों एंव राहगीरो को आने-जाने में अत्यन्त कठिनाईयों का सामना करना पड रहा है। वहीं दूसरी और इन अण्डरपासों में 10 -12 फुट तक की गहराई में पानी भर जाने पर 05-06 दिनो तक उक्त मार्ग तो अवरूद्व सा हो जाता है जिसके चलते स्थानीय लोगो का सामान्य जन-जीवन रूक सा जाता है। हालांकि वर्तमान में फ्रेंटकोरीडोर के एंव रेल विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा इन अण्डपासों पर वैकल्पिक व्यवस्था कर मोटर पम्प, टूल्लू पम्प आदि लगाकर अण्डपासों में जमा पानी को बाहर निकाला जा रहा है। जिसमें कहीं-कहीं जगह पर 02-03 दिन भी लग रहे है। अत: केन्द्रीय रेल मंत्री से आग्रह है कि संसदीय क्षेत्र अजमेर में एल सी नंबर 14-15 से 39-40 तक अजमेर के पहले अर्थात साखुन, साली, गहलोता, तिलोनिया, मण्डावरियां, सांवतसर , कृष्णापुरी किशनगढ, परासीया, गेगल, मुहामी, लाडपुरा क्षेत्र तथा अजमेर शहर में एल सी नम्बर 41 से 48 अर्थात मदारपुरा, किरानीपुरा, सुभाषनगर क्षेत्र तथा अजमेर के बाद अजमेर से ब्यावर खण्ड के अधिन एल सी नंबर 01 से 17 तक यथा सुभाषनगर, दौराई, सराधना, मकरेडा, मांगलियावास, दौलतखेडा, लामाना, एंव खरवा क्षेत्र के अण्डपासों पर वर्षा के पानी एंव अन्य पानी के निकास की स्थाई व्यवस्था एंव अण्डरपासों पर टीन शैड निर्माण हेतु आवश्यक सक्षम विभागीय क्रियान्विति कराकर स्थानीय आमजन एंव राहगीरों को आवाजाही का सुगम मार्ग उपलब्ध करावें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *