नाश्ते में एक कटोरी दलिया खाएं, नहीं होगी डायबिटीज, वजन घटाने में भी कारगर

 

दिन की शुरुआत एक कटोरी दलिया से करें। चाहें तो राई से बनी ब्रेड भी खा सकते हैं। इससे आपके टाइप-2 डायबिटीज का शिकार होने का खतरा 34 फीसदी तक घट जाएगा। स्वीडन स्थित चार्मर्स यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के हालिया अध्ययन में यह सलाह दी गई है।
शोधकर्ताओं के मुताबिक दिन भर में 50 ग्राम समूचा अनाज (फिर चाहे वो गेहूं हो या राई, बाजरा, जौ और चावल) खाने से ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। यह इंसुलिन की कार्यक्षमता बढ़ाने में भी कारगर है। उन्होंने टाइप-2 डायबिटीज से बचाव के लिए आटे से बनी खाद्य वस्तुओं के बजाय समूचित आहार का सेवन बढ़ाने की नसीहत दी। इससे कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटाने और दिल की बीमारियों को दूर रखने में भी मदद मिलती है।
कब्ज को दूर कर, शरीर को दिनभर ऊर्जावान बनाएं रखता है कच्चा केला
प्रोफेसर रिकर्ड लैंडबर्ग के नेतृत्व में लगातार 15 साल तक चले इस अध्ययन में 55,465 लोग शामिल हुए। शोधकर्ताओं ने सभी प्रतिभागियों को नियमित रूप से अलग-अलग मात्रा में समूचे अनाज का सेवन करवाया। सबसे ज्यादा 50 ग्राम समूचा आहार लेने वाले पुरुषों के टाइप-2 डायबिटीज के चपेट में आने की आशंका 34 फीसदी तक कम मिली। महिलाओं में इस बीमारी के खतरे में 22 फीसदी की कटौती दर्ज की गई। अध्ययन के नतीजे ‘जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन के हालिया अंक में प्रकाशित हुए हैं।
जाड़े में होने वाली बीमारियों को दूर करते हैं धनिया के पत्ते
मोटापे की चिंता भी दूर हो जाएगी
-साल 2017 में जारी डेनमार्क टेक्निकल यूनिवर्सिटी के अध्ययन में समूचे अनाज को वजन घटाने में भी कारगर करार दिया गया था। शोधकर्ताओं ने पाया था कि समूचा अनाज धीमी गति से पचता है। इससे पेट लंबे समय तक भरा-भरा महसूस होता है। व्यक्ति कम कैलोरी का सेवन करता है और उसके मोटापे का शिकार होने का जोखिम घट जाता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *