एडुकेशन न्यूजीलैंड ने कृति (कीवी) सैनोन को पहला भारतीय ब्रांड एम्बेसेडर बनाया

 

 

मुंबई। एडुकेशन न्यूजीलैंड (ईएनजेड) ने आज मुंबई में सितारों से भरे संवाददाता सम्मेलन में अपने पहले भारतीय ब्रांड एम्बेसेडर की घोषणा की। युवा, जोशीली अभिनेत्री कृति सैनोन अब भारत में एडुकेशन न्यूजीलैंड का प्रतिनिधित्व करेंगी। युवाओं के साथ कृति का जुड़ाव एडुकेशन न्यूजीलैंड (ईएनजेड) को देश के आकांक्षी विद्यार्थियों तक पहुंचने में सहयोग करेगा ताकि वे विदेशों में अध्ययन करने के अपने विकल्पों पर समझदारी से फैसला कर सकें। मुंबई में संवादपरक संवाददाता सम्मेलन के दौरान ईएनजेड ने खासतौर से भारतीय लोगों के लिए तैयार की गई विभिन्न पहलों की भी घोषणा की। न्यूजीलैंड एक्सीलेंस अवाड्र्स (एनजेडईए) सीजन 2, एक अनूठी स्कॉलरशिप स्कीम है। यह महत्वाकांक्षी भारतीय विद्यार्थियों को न्यूजीलैंड की यूनिवर्सिटीज में बिजनेस, फैशन एवं एसटीईएम-संबंधित प्रोग्राम (विज्ञापन, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी और गणित) में अध्ययन करने के लिए आंशिक स्कॉलरशिप्स प्रदान करती है। क्यूएस रेटिंग्स के अनुसार समूचे विश्व में शीर्ष 3: में सभी आठों न्यूजीलैंड यूनिवर्सिटीज को शामित किया गया है। 31 प्रतिभाशाली युवा भारतीय विद्यार्थियों को इस वर्ष की शुरूआत में पहले प्रतिष्ठित एनजेड एक्सीलेंस अवाड्र्स से सम्मानित किया गया। एनजेडईए 2017 अवाड्र्स की घोषणा करते हुये, माननीय सुश्री जोआना केम्पकर्स, भारत में न्यूजीलैंड की उच्चायुक्त ने कहा, ”आज की गई घोषणायें भारत के उच्च सामथ्र्य वाले भारतीय स्टूडेंट्स को उनके उच्च शिक्षा गंतव्य के रूप में न्यूजीलैंड का चुनाव करने के लिए प्रोत्साहित करेंगी। न्यूजीलैंड एक्सीलेंस अवाड्र्स स्टूडेंट्स के चुनिंदा समूह को न्यूजीलैंड की विश्वस्तरीय यूनिवर्सिटीज में पढऩे के लिए आंशिक स्कॉलरशिप की पेशकश करता है।” ‘एकेडमिक गेस्ट लेक्चर सीरीज’ का दूसरा राउंड भी शुरू किया गया। इसमें इंजीनियरिंग, लाइफ साइंसेज, इकोलॉजी, सस्टेनेबिलिटी, सोशल वर्क और बिजनेस में न्यूजीलैंड की अग्रणी एकेडमिक्स को दिखाया जायेगा। लेक्चर सीरीज चेन्नई, बेंगलुरू, मुंबई, पुणे और नई दिल्ली में 4 से 9 सितंबर 2017 तक चलेगी और इसमें कई प्रेरणादायक विषयों पर व्याख्यान होंगे। इनमें रचनात्मक इंजीनियरों को शिक्षित करना; गणित की शिक्षा बेहतर बनाने के लिए मोबाइल तकनीक का इस्तेमालक रना; स्मार्ट पावर एवं रिन्यूएबल एनर्जी; जियोग्राफिकल इनफॉर्मेशन सिस्टम में ड्रोन्स का इस्तेमाल; खाद्य सुरक्षा का भविष्य और जलवायु परिवर्जन द्वार प्रभावित सुरक्षा आदि कुछ नाम शामिल हैं।
इस अवसर पर एडुकेशन न्यूजीलैंड के रीजनल डायरेक्टर-भारत, दक्षिण पूर्व एशिया और मध्य पूर्व, जॉन लैक्सन ने कहा, ”आज की घोषणायें भारतीय स्टूडेंट्स के लिए एक सकारात्मक शिक्षण परिवेश मुहैया कराने में न्यूजीलैंड की मौजूदा प्रतिबद्धता को दर्शाती हैं। हम हमारे लेक्चर सीरीज के हिस्से के तौर पर विश्वस्तरीय न्यूजीलैंड एकेडेमिक्स के इतने विविध समूह का भारत में स्वागत करके उत्साहित हैं। हमारी भारत पहलों का उद्देश्य भारत में एनीमेशन, फैशन, एविएशन, स्पोट्र्स टेक्नोलॉजी, साइबर सिक्युरिटी, एनर्जी और कंजर्वेशन जैसे विशिष्ट कोर्सेस में न्यूजीलैंड विशेषज्ञता का समावेश करना है।”एडुकेशन न्यूजीलैंड के लिए पहले भारतीय ब्रांड एम्बेसेडर की नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुये श्री लैक्सन ने कहा, ”कृति की शानदार शिक्षा पृष्ठभूमि और प्रोफाइल से हमें उन भारतीय युवाओं के साथ ज्यादा जुड़ाव बनाने में मदद मिलेगी जोकि उच्च गुणवत्ता वाली अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा की तलाश में हैं।” लैक्सन ने आज एडुकेशन न्यूजीलैंड द्वारा की गई अन्य घोषणाओं पर कहा, ”हम न्यूजीलैंड इंडिया सस्टेनेबिलिटी चैलेंज (एनजेडआइएससी) की घोषणा करके भी उत्साहित हैं। यह सस्टेनेबिलिटी एवं पर्यावरण में हमारी मजबूती प्रदर्शित करता है। एनजेडआइएससी एक अनूठा प्रोजेक्ट है और टीईआरआइ इंडिया हमारा नॉलेज पार्टनर है। इसमें स्टूडेंट्स अर्थव्यवस्था, स्वास्थ्य, एवं पर्यावरणीय क्षेत्र में सस्टेनेबिलिटी समस्याओं के लिए समाधानों को चिन्हित करेंगे।”एडुकेशन न्यूजीलैंड के लिए पहला भारतीय ब्रांड एम्बेसेडर चुने जाने पर बेहद उत्साहित कृति सैनोन ने कहा, ”मैं भारत में न्यूजीलैंड परिवार का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस कर रही हूं। यह मेरे लिए एक शानदार अवसर और जिम्मेदारी है। मैं अपने देश के स्टूडेंट्स के शैक्षणिक एवं कॅरियर परिदृश्य को सपोर्ट करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करूंगी।”सुश्री सैनोन ने अपने सहयोग के बारे में कहा, ”न्यूजीलैंड हमारे उच्च क्षमतावान स्टूडेंट्स के लि बेजोड़ अवसरों की पेशकश करता है। वे सकारात्मक एवं बहुसांस्कृतिक माहौल में विभिन्न गुणवत्तापूर्ण कोर्सेस का चुनाव कर सकते हैं। मुझे उम्मीद है कि यह एक्सपोजर कल के वैश्विक नागरिकों को आकार देने में हमारी मदद करेगा।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *