सभी बूथ लेवल अधिकारी 15 दिसम्बर तक करेंगे घर-घर दौरा

जयपुर 30 नवम्बर (का.स.)। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्देशानुसार विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त बूथ लेवल अधिकारियों को 15 दिसम्बर तक घर-घर जाकर मतदाता सूचियों से संबंधित विभिन्न आवेदन पत्र एवं सूचनाएं सकंलित करने की अवधि बढ़ा दी गई है। इस संबंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत ने राज्य के समस्त जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिये है कि 15 दिसम्बर तक निर्धारित मापदण्डों के अनुसार लक्ष्य प्राप्त किया जाना सुनिश्चित करें। भगत गुरूवार को शासन सचिवालय में जयपुर जिले की निर्वाचन गतिविधियों से संबंधित समीक्षात्मक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने समस्त निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिये कि बूथ लेवल अधिकारी घर-घर जाकर संबंधित मतदाता सूचियों से संबंधित विभिन्न फार्मस एवं आवश्यक सूचना प्राप्त करेंगे। इसके अलावा मृत एवं स्थानान्तरित व्यक्तियों के नाम भी मतदाता सूची में से नियमानुसार विलोपित करने के विषय में कार्यवाही करेंगे। उन्होने सभी जयपुर जिले के निर्वाचक पंजीयक अधिकारी एवं सहायक निर्वाचक पंजीयन अधिकारियों को निर्देश दिये कि समस्त प्रपत्र की बीएलओ द्वारा जॉच कर ली गई यह देख लेवे तथा यदि कही नाम, पता, उम्र में कोई गलती हो रही है तो उसी समय उसमें शुद्धिकरण कर पंजीकरण फार्र्म भरे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि स्यूमोटो विलोपन के प्रकरणों में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों की पूर्ण पालना की जानी चाहिये। उन्होने बताया कि इसके अलावा जिन लोगों के नाम स्यूमोओ हटाये जाने है उनकी सूची मतदान केन्द्र पर चस्पा की जाये और सुनवाई का अवसर प्रदान करके आगे कार्यवाही की जावें। अश्विनी भगत ने समस्त निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिये कि यदि आवेदक अन्य किसी विधानसभा क्षेत्र से स्थानान्तरित होकर आया है तो ऐसे आवेदक से पिछली विधानसभा में दर्ज नाम के संबंध में उसकी भाग संख्या, क्रम संख्या एवं ईपिक नम्बर आवश्यक रूप से दर्ज की जावें। उन्होने बताया कि यदि आवेदक 21 वर्ष से अधिक आयु का है तो उससे घोषणा पत्र आवश्यक रूप से लिया जाये।
बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलक्टर, जयपुर से सिद्धार्थ महाजन, अति. मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ0 रेखा गुप्ता, उप जिला कलक्टर, जयपुर सुनील भाटी व निर्वाचन विभाग के कई अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *