इमोशन एआई स्टार्टअप ऐंट्रोपिक टैक को 1.1 मीलियन डॉलर की फंडिग मिली

बैंगलुरु, 26 जुलाई(एजेन्सी)। इमोशन एआई के क्षेत्र में अग्रणी ऐंट्रोपिक टैक् ने ‘प्रि-सिरीज़ ए राउंड में 1.1 मीलियन डॉलर की फंडिग प्राप्त करने की घोषणा की है। यह निवेश बीआईएफ (भारत इनोवेशन फंड) की अगुआई में हुआ और सह-निवेशकों में शामिल आईडीएफसी-परम्परा कैपिटल, अर्थविदा वेंचर्स व जितेन्द्र गुप्ता (एमडी, पेयू) है। इनके अलावा कंपनी के वर्तमान निवेशकों ने भी निवेश किया। इस निवेश से ऐंट्रोपिक टैक् को मदद मिलेगी कि वह अपने प्लैटफॉर्म अफैक्ट लैब 2.0 का पैमाना बढ़ा सके तथा विश्व भर में अपनी मौजूदगी बढ़ाने के लिए और ज्यादा आईपी आधारित उत्पादों को लांच कर सके। ऐंट्रोपिक टैक् के संस्थापक व सीईओ रंजन कुमार ने कहा, कि एक उपभोक्ता के तौर पर खरीदने व खपत संबंधी हमारे फैसले हमारी भावनाओं द्वारा गहराई से प्रेेरित होते हैं। सबसे पहले हम अपनी भावना के आधार पर खरीददारी करते हैं और उसके बाद अपने दिमाग के तार्किक भाग द्वारा उस खरीद को न्यायसंगत ठहराते हैं। हमारा ऑनलाइन एसएएएस प्लैटफॉर्म अफैक्ट लैब 2.0 ब्रांडों को सक्षम बनाता है कि वे अपनी पेशकश के बारे में ग्राहकों के अवचेतन मन की प्रतिक्रिया को माप सकें तथा उसके नतीजों के आधार पर ग्राहकों को अपने ब्रांड से जोड़ सकें। भारत इनोवेशन फंड में पार्टनर अश्विन रघुरामन ने कहा कि ऐंट्रोपिक टैक् की आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक ब्रेनवेव से भावनात्मक स्थिति और प्रतिक्रियाओं की विवेचना करती है। यह पाथ ब्रेकिंग तकनीक है और इसके बहुत से उपयोग हैं जिनमें ग्राहकों की पसंद समझने से लेकर मानसिक स्वास्थ्य सुधार तक के पहलू शामिल हैं। इसमें संभावनाएं अपार हैं और हम ऐंट्रोपिक को सहयोग करेंगे ताकि वह इस नई टेक्नोलॉजी को उसकी अधिकतम क्षमता तक पहुंचा सके। इमोशन एआई आधारित उत्पाद व टेक्नोलॉजी बनाने वाली बैंगलुरु स्थित ऐंट्रोपिक टैक् के पास 20 सदस्यों वाली टीम है जिनका सम्मिलित अनुभव 150 साल से ज्यादा का है। ऐंट्रोपिक टैक् ने अपनी स्थापना से लेकर अब तक बहुत से पेटेंट फाइल किए हैं और पिछली तिमाही में कंपनी ने अपने रेवेन्यू में 100 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *