पूर्व विधायक शिमला बावरी के भाई ने की खुदकुशी

 

श्रीगंगानगर, 20 दिसम्बर (का.सं.)। भाजपा की पूर्व विधायक शिमलादेवी बावरी के अनुज भंवरजीत ने गुरुवार को कीटनाशक दवा का सेवन कर खुदकुशी कर ली। अनूपगढ़ से भाजपा की पूर्व विधायक शिमलादेवी बावरी के 34 वर्षीय भाई भंवरजीत को गुरुवार दोपहर नई मण्डी घड़साना में लेघा पेट्रोल पम्प के पास खुद की कार में तडफ़ते हुए देखा गया। लोगों की जैसे ही उस पर नजर पड़ी, वे उसे तुरंत ही कस्बे में एक निजी अस्पताल में ले गये। भंवरजीत के मुंह से झाग निकल रहे थे। अपराह्न करीब 3 बजे इस निजी अस्पताल में लाये जाने पर डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार दिया। हालत गम्भीर होने के कारण भंवरजीत को कुछ ही देर बाद श्रीगंगानगर के लिए रैफर कर दिया गया। भंवरजीत को लेकर श्रीगंगानगर को परिवार वाले रवाना हो गये। उनके साथ डॉक्टर राजेश गौड़ भी थे। अनूपगढ़ से पांच-छह किमी आगे भंवरजीत की मौत हो गई। इस पर उनके शव को परिवार वाले सीधे पैतृक गांव चक 12-13 केएनडी रावला में ले गये। डॉ. गौड़ ने बताया कि भंवरजीत ने किसी कीटनाशक दवा का सेवन कर रखा था। उधर, नई मण्डी घड़साना थाना के प्रभारी मोहम्मद अनवर ने बताया कि इस मामले को लेकर किसी ने थाने में न तो सूचना दी और न ही रिपोर्ट। सम्भवत: भंवरजीत के परिवार वाले कोई पुलिस कार्यवाही नहीं करवाना चाहते। भंवरजीत के इस तरह कथित रूप से खुदकुशी कर लेने को लेकर इलाके में कई तरह की चर्चाएं फैल गई हैं। यह चर्चाएं खुदकुशी करने के कारणों को लेकर हो रही है। बता दें कि इस बार के विधानसभा चुनाव में शिमलादेवी बावरी को भाजपा की दोबारा टिकट नहीं मिली थी। उनकी जगह इसी समाज की संतोषदेवी बावरी को टिकट दी गई, जो विधायक निर्वाचित हुई हैं। भंवरजीत के खुदकुशी करने का कारण फिलहाल अज्ञात है। उसकी इस तरह मौत हो जाने से इलाके में शोक की लहर है। भंवरजीत का कल शुक्रवार को पैतृक गांव में अन्तिम संस्कार किया जायेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *