सेहत की बात: नहीं होंगी हड्डियां कमजोर, अपनाएं ये TIPS

अब वह जमाना गया, जब लोग बुढ़ापे में किसी बीमारी का शिकार हुआ करते थे। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर 10 में से चार लोगों को हड्डियों से जुड़ी कोई न कोई समस्या जरूर होती है। हमारे शरीर की हड्डियां इतनी कमजोर होती हैं कि थोड़ी सी चोट से भी फ्रैक्चर हो जाता है। ऐसे में खानपान व दिनचर्या पर इस प्रकार ध्यान देने की जरूरत होती है कि हमारे शरीर के सभी अंगों को पोषण मिलता रहे और वह दुरुस्त रहें। इसके लिए कुछ बातों पर ध्यान देना जरूरी हो जाता है।
नियमित व्यायाम है जरूरी : व्यायाम करने से हड्डियों व मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। हालांकि बहुत से पतले लोग खासकर महिलाएं सोचती हैं कि उन्हें व्यायाम की क्या जरूरत है किंतु व्यायाम सबके लिए जरूरी होता है। सप्ताह में दो-चार बार वजन उठाने वाले व्यायामों को करने से मांसपेशियां मजबूत बनती हैं और हड्डियां भी स्वस्थ रहती हैं। पैदल चलना, जॉगिंग करना, डांस करना, जिम जाना, सीढिय़ां चढऩा, योग या हल्के-फुल्के व्यायाम करना भी हड्डियों को मजबूत बनाता है।
कैल्शियम से भरपूर हो भोजन : समस्त जीवन में कैल्शियमयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से भी हड्डियां मजबूत बनती हैं। वयस्क लोगों को दूध, मछली, हरी सब्जियों, दही, सोयाबीन, टोफू आदि का सेवन करना चाहिए। हर किसी के लिए रोजाना दूध पीना जरूरी होता है।
विटामिन डी है जरूरी: दरअसल शरीर में कैल्शियम को खपाने के लिए विटामिन डी की आवश्यकता होती है। रोजाना धूप में 20 मिनट रहने से शरीर को जरूरी विटामिन डी मिल जाता है। सामन जैसी मछली, अंडे व कुछ प्रकार के अनाजों से भी विटामिन डी प्राप्त किया जा सकता है। 51- 70 वर्ष के लोगों को रोजाना 400-800 आईयू तक विटामिन डी का सेवन करने की सलाह दी जाती है, लेकिन 2000 आईयू से अधिक विटामिन डी गुर्दों के लिए खतरनाक भी हो सकता है।
शराब का सेवन न करें: शराब का सेवन न करें। धूम्रपान भी सेहत के लिए नुकसानदेह होता है। धूम्रपान करने से ऐस्ट्रोजन का स्तर कम हो जाता है और शराब का सेवन हड्डियों को नुकसान पहुंचाता है।
हड्डियों के लिए कैल्शियम: कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है। यह शरीर में होने वाली टूट-फूट की मरम्मत करता है। आप पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी का सेवन करते हैं तो हड्डियों से जुड़ी बीमारियों से बचे रह सकते हैं। हमारी हड्डियां, दांत और नाखून 99 प्रतिशत कैल्शियम से ही बने होते हैं। दिल की धड़कन, हार्मोनल सिस्टम, मांसपेशियों के संचालन, मस्तिष्क की कार्यप्रणाली के लिए भी शरीर को कैल्शियम की जरूरत होती है। नर्वस सिस्टम को सही ढंग से चलाने और एंजाइम्स को सक्रिय बनाने में भी कैल्शियम अहम भूमिका निभाता है।

पानी की कमी न होने दें
पानी पीना जोड़ों की सेहत को बनाए रखने का सबसे अछा तरीका है। इससे आपके जोड़ों को प्रचुर मात्रा में श्लेश द्रव (सिनोवियल फ्लूइड) की आपूर्ति होती है। यह द्रव किसी जोड़ में हड्डियों के बीच की जगह में कुशन की तरह काम करता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *