पोस्ट ऑफिस में मिलेगी ये सुविधा, 34 करोड़ खाताधारकों को होगा फायदा

नई दिल्ली। पोस्ट ऑफिस के खाताधारकों को जल्द ही डिजिटल बैंकिंग सर्विस मिलेगी. देश के करीब 34 करोड़ पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स मई से सारी सर्विसेज ऑनलाइन ले सकेंगे. पोस्ट ऑफिस के 34 करोड़ खाताधारकों को इसका फायदा मिलेगा. सरकार ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB)से इन खातों को लिंक करने की मंजूरी दे दी है. मई से पोस्ट ऑफिस के खाताधारकों को भी डिजिटल बैंकिंग सर्विसेज लेने का मौका मिल जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, वित्त मंत्रालय ने पोस्ट ऑफिस के बचत खातों को आईपीपीबी खातों के साथ लिंकिंग की अनुमति दे दी है।
क्या मिलेगा फायदा- पोस्ट ऑफिस में डिजिटल बैंकिंग सर्विस शुरू होने से यहां के खाताधारक अपने अकाउंट से किसी भी बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर सकेंगे. आपको बता दें, पोस्ट ऑफिस में कुल 34 करोड़ बचत खाताधारक हैं. इनमें से 17 करोड़ पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बैंक अकाउंट्स हैं. बाकी बचत खातों में मंथली इनकम स्कीम और रेकरिंग डिपॉजिट शामिल हैं।
सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क बनेगा- सरकार के इस कदम से देश में सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क बनकर तैयार होगा. इंडिया पोस्ट की योजना सभी 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस शाखाओं को आईपीपीबी से लिंक करना है. इंडिया पोस्ट कोर बैंकिंग सर्विस शुरू कर चुका है. लेकिन, इसके तहत मनी ट्रांसफर की सुविधा पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बैंक (पीओएसबी) अकाउंट्स के बीच ही मिलती है।
NEFT, RTGs सभी की मिलेगी सुविधा – आधिकारिक सूत्र ने बताया, ‘IPPB को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया संभालता है. वहीं, पोस्ट ऑफिस की बैंकिंग सर्विसेज वित्त मंत्रालय के अंतर्गत आती हैं. ‘IPPB कस्टमर्स NEFT, RTGS और अन्य मनी ट्रांसफर सर्विसेज इस्तेमाल कर पाएंगे जो अन्य बैंकिंग कस्टमर्स करते हैं. एक बार पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट्स IPPB से लिंक हो गए, तब सभी कस्टमर्स दूसरे बैंकों की तरह ही कैश ट्रांसफर की सभी सर्विसेज इस्तेमाल कर पाएंगे.’
कस्टमर चाहे तो ही मिलेगी यह सर्विस- सूत्र ने बताया कि भारतीय डाक कि मई से भारतीय डाक सभी खाताधारकों को इस सुविधा का लाभ उठाने का मौका देगा. यह सर्विस पूरी तरह से वैकल्पिक है, अगर पोस्ट ऑफिस खाताधारक इसे अपनाना चाहेंगे तो उनके खाते को IPPB से लिंक कर दिया जाएगा. इंडिया पोस्ट का प्लान इस महीने से सभी 650 आईपीपीबी ब्रांचेज को शुरू करना है. सभी 650 ब्रांचेज जिलों में छोटे पोस्?ट ऑफिसेस कनेक्ट होंगी. आईपीपीबी ब्रांच और सभी एक्सेस प्वाइंट पोस्ट नेटवर्क से लिंक होंगे. करीब 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस हैं. इनमें से 1.3 लाख ब्रांच ग्रामीण क्षेत्रों में हैं. इस तरह, 1.55 लाख ब्रांच के साथ इंडिया पोस्ट भारत का सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क बन जाएगा।
ऐप से भी पेमेंट का मिलेगा ऑप्शन- सूत्रों ने बताया कि दूसरे फेज में सितंबर से पोस्ट ऑफिस में खाताधारकों को अपने आईपीपीबी अकाउंट से सुकन्या समृद्धि, रेकरिंग डिपॉजिट, स्पीड पोस्ट जैसे प्रोडक्टस के लिए पेमेंट का ऑप्शन मिलेगा. इसके अलावा, आईपीपीबी जल्द ही मर्चेंट्स का रजिस्ट्रेशन शुरू करेगा, जो कि उसके कमस्टर्स का पेमेंट ऐप के जरिए कर सकेंगे. आईपीपीबी जल्द ही अपना ऐप बेस्ड पेमेंट सिस्टम लाएगा. इसके जरिए ग्रॉसरी, टिकट आदि का पेमेंट हो सकेगा।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *