किसानों का जिला प्रशासन ठप आह्वान कल

श्रीगंगानगर, 9 सितम्बर (नि.स.)। अखिल भारतीय किसान सभा द्वारा किसानों की 11 सूत्री मांगों के समर्थन में चलाये जा रहे आंदोलन के तहत सोमवार को श्रीगंगानगर में जिला प्रशासन को ठप करने के प्रयास किये जायेंगे। किसान सभा ने इस दिन पूरे जिले के किसानों को श्रीगंगानगर पहुंचने का आह्वान किया है। सुबह से ही जिला कलक्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक कार्यालयों के गेटों पर किसानों द्वारा धरने लगा दिये जायेंगे, ताकि कोई भी अधिकारी या कर्मचारी अंदर-बाहर न जा सके। इस आह्वान को देखते हुए जिला प्रशासन ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने और जिला कलक्ट्रेट के आसपास ज्यादा भीड़ न होने देने के लिए बैरिकेटिंग कल शाम को कर दी जायेगी। सम्भावना जताई जा रही है कि कलक्ट्रेट के आसपास धारा 144 लगा दी जाये। उधर, किसान सभा और इस आंदोलन का समर्थन कर रहे अन्य किसान संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने गांवों मेें जनसम्पर्क अभियान तेज कर दिया है। किसान सभा की केन्द्रीय कौंसिल के सदस्य श्योपतराम मेघवाल ने शनिवार को बताया कि प्रख्यात पत्रकार, स्वराज भारत अभियान के संचालक और जय किसान आंदोलन के संस्थापक योगेन्द्र यादव 11 सितम्बर को श्रीगंगानगर आ रहे हैं। कलक्ट्रेट पर प्रशान को ठप करने के लिए आयोजित किसानों की विशाल सभा को योगेन्द्र यादव सम्बोधित करेंगे। बता दें कि योगेन्द्र यादव श्रीगंगानगर के ही मूल निवासी हैं। शनिवार को श्योपतराम मेघवाल, अनिल गोदारा, विजय रेवाड़, रिछपाल ङ्क्षसह पन्नू, रमनदीप सिंह, विष्णु राहड़, पवन रोहिड़ांवाली ने मोहनपुरा, कोनी, मदेरां, रेणुका, मिर्जेवाला व दौलतपुरा सहित दो दर्जन गांवों में जनसम्पर्क अभियान चलाया।श्री मेघवाल ने बताया कि किसान सभा की 13 टीमें पूरे जिले में किसानों से जनसम्पर्क करने में लगी हुई है। किसान नेता अनिल गोदारा ने कहा कि मोदी सरकार ने चुनाव से पहले स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू कर किसानों को फसल का वाजिब दाम दिलाने के वायदे किये थे। अब यह सरकार अपने वायदे पूरे नहीं कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *