श्रीगंगानगर में पिता द्वारा हैवानियत, तीन वर्षीय मासूम पुत्री के साथ दुष्कर्म

पुलिस ने मामला दर्ज किया, जांच आरम्भ

श्रीगंगानगर, 25 मई (का.सं.)। शहर में एक पिता की हैवानियत उजागर हुई है। पिता पर अपनी तीन वर्षीय पुत्री के साथ दुष्कर्म करने का इल्जाम लगा है। यह मामला शनिवार दोपहर महिला थाना में पहुंचा, जब पीडि़त बच्ची को लेकर उसकी मां व नाना सहित अनेक परिवारजन तथा रिश्तेदार आये। थाने में आने के बाद भी काफी देर तक यह लोग असमंजस में रहे कि लोकलाज वश इस घटना को उजागर किया जाये या नहीं, लेकिन बच्ची की मां दृढ़ निश्चय करके आई थी कि वह प्रकरण जरूर दर्ज करवायेगी। करीब दो घंटे की कश्मकश के बाद मां ने अपने पति के विरुद्ध रिपोर्ट दे दी, जिस पर तत्काल मामला दर्ज कर लिया गया। हासिल जानकारी के अनुसार यह सनसनीखेज और संगीन मामला शहर के प्रतिष्ठित व उच्च शिक्षित परिवार का है। करीब 35 वर्षीय विनोद पर उसकी पत्नी ने तीन वर्षीय बगाी के साथ दुष्कर्म का इल्जाम लगाया है। थानाप्रभारी विजेन्द्र सीला ने बताया कि दुष्कर्म की धारा 376 तथा पोक्सो एक्ट की धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। पीडि़त बच्ची का मेडिकल चैकअप करवाया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने विनोद को पकड़ लिया है और उससे अभी पूछताछ चल रही है। थानाधिकारी के अनुसार बगाी के साथ दुष्कर्म की यह घटना 10-15 दिन पहले की बताई गई है। जानकारी के अनुसार 10-15 दिन पहले बच्ची के गुप्तांग को देखकर मां चौंक गई। उसे महसूस हुआ कि कुछ गड़बड़ हुई है। बच्ची को डॉक्टर के पास ले जाया गया।डॉक्टर ने भी पुष्टि की कि बच्ची के साथ कोई गलत हरकत हुई है। सूत्रों के मुताबिक तीन वर्षीय अबोध बच्ची से जब मां ने पूछा तो उसने जैसे-तैसे पापा द्वारा गलत हरकत करने के बारे में बताया। इससे मां सन्न रह गई। लोकलाज वश पहले तो उसने किसी को इस बारे में कुछ नहीं बताया। उसने खामोश रहना ही उचित समझा। सूत्र बताते हैं कि गत दिवस विनोद ने फिर एक बार गलत हरकत कर दी। तब मां ने अपने पीहर वालों को उसकी जानकारी दी। शनिवार पीहर वाले भी श्रीगंगानगर आ गये और मामला थाने में पहुंच गया। थानाधिकारी ने कहा कि प्रकरण में दुष्कर्म की धारा 376 लगाई गई है।बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है या प्रयास हुआ है, इसका मेडिकल चैकअप होने व रिपोर्ट मिलने पर पता चल पायेगा। चूंकि बच्ची अबोध व कम आयु की है, इसलिए पोक्सो एक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं। ऐसी मासूम बच्चियों के साथ अश्लील हरकत व प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ करना भी दुष्कर्म की श्रेणी में आता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *