पुलिस अधिकारियों के लिए फिक्की कास्केड का प्रशिक्षण कार्यक्रम

नई दिल्ली, 27 जुलाई(एजेन्सी)। फिक्की कास्केड ने नई दिल्ली स्थित अकेडमी ऑफ स्मार्ट पुलिसिंग में दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के लिए एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। पुलिस अधिकारियों को जागरूक करने व प्रशिक्षित करने के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम के तहत यह आयोजन किया गया। विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों के जरिये फिक्की कास्केड राष्ट्रीय स्तर पर जालसाजी व तस्करी रोकने के मुद्दे पर बहस पैदा करने में सफल रहा है। फिक्की कास्केड जालसाजों और तस्करों को समझने और उनके खिलाफ उचित कदम उठाने में सक्षम बनाने के उद्देश्य से विभिन्न राज्यों में पुलिस अधिकारियों के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रमों का संचालन कर रहा है। प्रशिक्षण का उद्घाटन विवेक गोगिया, आईपीएस, विशेष पुलिस आयुक्त, प्रशिक्षण, दिल्ली ने किया। फिक्की कास्केड के सलाहकार दीपचंद ने कहा कि फिक्की कास्केड की रिपोर्ट के अनुसार, केवल सात विनिर्माण क्षेत्रों में अवैध कारोबार के कारण सरकार को 39,239 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। उद्योग जगत का कुल अनुमानित नुकसान 1,05,381 करोड़ रुपये का है और दो साल में इसमें 44.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने आगे कहा कि नुकसान का यह अनुमान तो बड़ी चट्टान के छोटे से टुकड़े जैसा है। यह कारोबार अवैध उद्योग को ताकत दे रहा है और इसके कारण आतंकवाद समेत विभिन्न संगठित अपराधों के रूप समाज में आपराधिक गतिविधियां बढ़ी हैं। वैश्विक अध्ययनों में संकेत मिला है कि दुनियाभर में आपराधिक गिरोह जालसाजी और तस्करी के माध्यम से अपनी घातक गतिविधियों के लिए पैसे की जरूरत को पूरा करते हैं। इससे केवल हमारा समाज अधिक असुरक्षित ही नहीं बनता है, बल्कि कानून प्रवर्तन पर खर्च भी बढ़ता है। यह कार्यशाला तस्करी और जालसाजी के मामलों से निपटते समय संबंधित कानूनों व प्रक्रियाओं के बारे में पुलिस अधिकारियों को ज्यादा जागरूक बनाने की दिशा में बहुत सहायक रही। फिक्की कास्केड ने प्रक्रियागत एवं प्रवर्तन से जुड़े मुद्दों को हल करते हुए इस खतरे को लेकर जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से देश के विभिन्न हिस्सों में ऐसी कार्यशालाओं के आयोजन का प्रस्ताव रखा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *