रावतसर के हरवीर सहारण हत्याकांड के चश्मदीद गवाह के घर पर फायरिंग, पथराव

श्रीगंगानगर, 19 अप्रैल (का.सं.)। हनुमानगढ़ जिले में बहुचर्चित हरवीर सहारण हत्याकांड के एक मुख्य चश्मदीद गवाह के घर पर कुछ अज्ञात लोगों ने फायरिंग कर सनसनी फैला दी। कल रात लगभग 11.15 बजे रावतसर में वार्ड नंबर 14 में राजू सैनी के घर पर अज्ञात लोग 4 गोलियां चलाकर तथा पथराव कर कर फरार हो गए। वारदात की सूचना मिलते ही इन अपराधियों को पकडऩे के लिए पुलिस ने इलाके में नाकाबंदी करवाई,लेकिन सफलता नहीं मिली। इस घटना से रावतसर कस्बे में दहशत फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार रावतसर कस्बे में वार्ड नंबर 14 में रात्रि 11.15 बजे जब यह घटना हुई राजू सैनी अपने घर पर ही था। वह अपनी बीवी व ब’चों के साथ सो रहा था।
तभी किसी ने उसे घर के बाहर आने के लिए आवाज लगाई। जगदीश उर्फ राजू सैनी ने दरवाजा खोलने से पहले आंगन की लाइट जला दी। उसने मुख्य दरवाजा के बगल में पहले खिड़की पर लगे पर्दे को हटाकर जैसे ही बाहर देखना चाहा कि कौन उसे बुलाने आया है, तभी एका-एक गोलियां चलने लगींं। वह भाग कर घर के अंदर आ गया। पत्नी और ब’चों को लेकर ऊपर वाले कमरे में चला गया। इधर, बाहर एक के बाद एक 4 गोलियांं चलींं। फिर घर के दरवाजे और खिड़कियों पर पत्थर पडऩे लगे, जिससे शीशे टूट गए। बताया जा रहा है कि जो व्यक्ति दीवार फांद कर घर की चारदीवारी में भी आ गए। राजू सैनी ने फोन कर पुलिस तथा अपने परिचितों को घर पर हमला हो जाने की सूचना दी। थाना प्रभारी मोहम्मद अनवर दलबल सहित मौके पर पहुंचे। इस बीच पुलिस ने शहर की नाकाबंदी करवा दी। पुलिस को घटना स्थल पर चली हुई गोलियों के चार खाली कारतूस मिले हैं। यह गोलियां घर बाहर की दीवार, खिड़की व दरवाजों पर लगींं। पुलिस के अनुसार घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर लगे एक सीसी कैमरे में कार दिखाई दी है, जिसमें से चार व्यक्ति उतर कर राजू सैनी की घर की तरफ जाते दिखाई दिए हैं। आज सुबह भादरा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र कुमार ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।राजू सैनी और उसके परिवार वालों तथा आसपास के लोगों से से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर साक्ष्य जुटाने के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) की टीम को बुलाया गया। उगेखनीय है कि लगभग 6 माह पहले 24 सितंबर 2018 को रावतसर में उपखंड अधिकारी के कार्यालय में 6-7 व्यक्तियों ने दिन दहाड़े गोलियां चलाकर नगर पालिका की अध्यक्ष नीलम सहारण के पति हरवीर सहारण की हत्या कर दी थी। गोलियां लगने से बुरी तरह घायल हुए हरवीर सहारण को घटनास्थल पर मौजूद राजू सैनी ही अपनी गाड़ी में डालकर हनुमानगढ़ टाउन सिविल अस्पताल ले गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी। राजू सैनी इस हत्याकांड का मुख्य चश्मदीद गवाह है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *