कुख्यात अंकित भादू मुठभेड़ में बच निकला

श्रीगंगानगर, 12 अगस्त (का.सं.)। कुख्यात अपराधी अंकित भादू को हरियाणा पुलिस ने पीछा करते हुए रविवार सुबह श्रीगंगानगर जिले में सादुलशहर कस्बे के नजदीक एक खेत में घेर लिया। दोनों तरफ से जमकर फायरिंग हुई। इस मुठभेड़ में अंकित भादू बच निकलने में कामयाब हो गया। उसे और उसके दो साथियों को पकडऩे के लिए बाद में स्थानीय पुलिस ने लगभग 4 घंटे तक तीन-चार गांवों में सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। मुठभेड़ करने वाली हरियाणा पुलिस कुछ ही देर में वापस चली गई।हरियाणा पुलिस ने अंकित भादू की लोकेशन सादुलशहर में ट्रेस होने और उसका पीछा किए जाने की सूचना समय पर श्रीगंगानगर पुलिस को नहीं दी। इसी आपसी तालमेल की कमी का फायदा उठाकर अंकित भादू उसके दो साथी भागने में कामयाब हो गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह करीब 10 बजे सादुलशहर में एसडीएस नहर पुलिया के पास बलवंत सिंह के खेत में हरियाणा पुलिस ने एक युवक को घेर लिया। यह युवक पैदल ही इस खेत तक आया था।वहां खड़े एक ट्रैक्टर को उसने चाबी से स्टार्ट कर ले जाने की कोशिश की लेकिन तभी पुलिस ने उसे घेर लिया। पुलिस को आते देख कर इस युवक ने पिस्तौलों से फायरिंग शुरु कर दी।खेत में डिग्गी का निर्माण कार्य हो रहा है,जहां 20-25 मजदूर लगे हुए थे। अचानक गोलियां चलने से मजदूरों में भगदड़ मच गई। उन्होंने इधर-उधर भाग कर अपनी जान बचाई। खेतों में चार-पांच फुट ऊंचा नरमा खड़ा होने के कारण अंकित भादू को भाग जाने में परेशानी नहीं हुई। हरियाणा पुलिस के सात-आठ जवानों ने उसे पकडऩे की पूरी कोशिश की। जब युवक वहां से भाग गया तब हरियाणा पुलिस ने वहां मौजूद लोगों को बताया कि भाग जाने वाला कुख्यात अपराधी अंकित भादू था।सादुलशहर थाना प्रभारी को इस घटना की सूचना अंकित भादू के वहां से भाग जाने के बाद दी गई।थाना प्रभारी बलराज सिंह मान ने बताया कि उन्होंने उसी समय अंकित भादू जिस तरफ भागा था, आगे करडवाला चौराहा के पास नाकाबंदी कर ली। इस चौराहे पर मौजूद एक जूस विक्रेता ने बताया कि अभी एक युवक जूस पी रहा था जो पुलिस की गाड़ी को देखकर सामने की दीवार फांदकर खेत की तरफ भाग गया है।बलराज सिंह की टीम ने उसका पीछा किया। आगे खेत वालों ने बताया कि अभी एक युवक एक व्यक्ति का मोटरसाइकिल छीन कर भाग गया है। उसी तरफ पुलिस आगे गई तो नूरपुरा की तरफ मोटरसाइकिल व कपड़ों का एक बैग मिला।यहीं पर बालाजी मंदिर है,अंकित केउसमें छिपे होने का अंदेशा हुआ ।इस मंदिर को चेक किया गया लेकिन वहां कोई नहीं मिला। इसी बीच किसी ने पुलिस को जानकारी दी कि कुछ देर पहले एक युवक आई 20 कार में दो युवकों के साथ बैठकर जाते हुए देखा गया है। तत्पश्चात इस कार को पकडऩे के लिए पूरे इलाके में नाकाबंदी करवा दी गई। इस बीच श्रीगंगानगर से पुलिस अधीक्षक योगेश यादव अपने साथ कई अधिकारियों और काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को लेकर सादुलशहर को रवाना हो गए।करीब 12 बजे सादुल शहर में डेढ़ दर्जन पुलिस की गाडिय़ां एक साथ वहां पहुंची तो कस्बे में भी सनसनी वह दहशत का माहौल हो गया। लोगों को जैसे-जैसे पता चला कि कुछ देर पहले अंकित भादू मुठभेड़ होने पर भी हाथ निकला है,उन्हें बड़ी हैरानी हुई।अफवाह फैली कि अंकित भादू मुठभेड़ के दौरान घायल हो गया है। लेकिन इसकी कहीं पुष्टि नहीं हुई। पुलिस अधिकारियों ने बलवान सिंह के खेत का निरीक्षण किया। वहां गोलियों के चले हुए कारतूस मिले हैं। एक गोली ट्रैक्टर के साइलेंसर में लगी हुई थी। इस घटना की जानकारी पाकर साथ लगते पंजाब के अबोहर से भी पुलिस अधिकारी सादुलशहर में आ गए। हरियाणा पुलिस की टीम कुछ ही देर में वापस चली गई। इस टीम का नेतृत्व कौन कर रहा था, इस बारे में कुछ नहीं बताया गया।बताया जा रहा है कि यह टीम हरियाणा पुलिस की एटीएस या एसओजी की थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा पुलिस न ही अंकित भादू की लोकेशन को ट्रेस किया था।आज सुबह 9:30 बजे हरियाणा पुलिस की टीम सादुलशहर तहसील क्षेत्र में पंजाब सीमा से लगती पतली चेक पोस्ट से एक कार के पीछे लगी थी।इस कार में में तीन जने सवार थे, जिनमें एक अंकित भादू था। पीछा करते हुए हरियाणा पुलिस सादुलशहर कस्बे के पास आ गई। इसी दौरान अंकित को भनक लग गई थी पुलिस पीछा कर रही है।वह कस्बे के नजदीक पुलिया पर आकर बड़ी तेजी से चकमा दे गया। कार से उतरकर पैदल खेतों की तरफ भाग गया। हरियाणा पुलिस उसके पीछे खेतों में गई जहां बलवंत सिंह के खेत में उसे घेर लिया। अब दोनों तरफ से गोलियां चली। खेतों में नरमा की ऊंची फसल खड़ी होने के कारण अंकित को पकड़ा नहीं जा सका। थाना प्रभारी बलराज सिंह मान का कहना है कि हरियाणा पुलिस समय रहते सूचना देती तो अंकित भादू को आज पकड़ लिया जाता। पुलिस अधीक्षक योगेश यादव ने भी कहा कि यह मौके की परिस्थितियों पर निर्भर करता है कि ऐसी कार्रवाई के समय स्थानीय पुलिस को सूचना दी जाए या नहीं।उन्होंने बताया कि इस मुठभेड़ के संबंध में सादुलशहर थाना में मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है। दूसरी तरफ पुलिस सूत्रों ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान दोनों तरफ से 47 गोलियां चली ।कारतूस चले हुए मौके पर मिले हैं । बताया बताया जा रहा है कि अंकित भादू ने एसडीएस नहर की पुलिया के पास जिस कार को छोड़ा था, उसी कार में वह नूरपुरा के पास सवार होकर फरार हुआ है। बलवंत सिंह के खेत में मुठभेड़ में बच कर निकल भागते समय उसने फोन करके कार में सवार अपने दोनों साथियों को आगे नूरपुरा के पास बुला लिया, फिर उनके साथ सवार होकर भाग गया। इससे पहले उसने करडवाला चौराहा के पास जिस शख्स का मोटरसाइकिल छीना था, उसे नूरपुरा के पास छोड़ दिया। वहीं पर ही पुलिस को एक कपड़ों का बैग मिला है जो कि अंकित का बताया जा रहा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *