सूने मकान में मिली हड्डियां और कपड़े

 

श्रीगंगानगर, 23 दिसम्बर (नि.स.)। बीकानेर जिले के गजनेर थाना क्षेत्र के गांव अक्कासर में लम्बे समय से बंद पड़े सूने-खंडहरनुमा मकान में कुछ हड्डियां तथा कपड़े मिलने से सनसनी फैल गई। आशंका जताई जा रही है कि यह हड्डियां उसी 14-15 वर्षीय किशोर की हैं, जो करीब डेढ़ माह से लापता है। मृतक के पिता ने कपड़े अपने पुत्र के ही होने की पुष्टि कर दी है। हड्डियां इस किशोर की है या नहीं, इसकी पुष्टि करने के लिए पुलिस उसका डीएनए टेस्ट करवायेगी। गजनेर थानाप्रभारी वेदपाल ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि गांव में हरीराम मेघवाल का 14-15 वर्षीय पुत्र लगभग डेढ़ माह पहले अचानक गायब हो गया था। परिवार वाले अभी तक उसकी तलाश कर रहे थे, लेकिन उन्होंने पुत्र के गुम हो जाने की सूचना पुलिस को नहीं दी। अपने पुत्र की तलाश करते हुए हरीराम भोपों और बाबों के चक्करों में पड़ गया। इसी चक्कर में वह कुछ दिनों से चूरू जिले के सांडवा इलाके में गया हुआ था। इस बीच दो दिन पूर्व अक्कासर के कुछ बगो खेलते हुए वेदी खां मरासी के एक पुराने-बंद पड़े खंडहरनुमा मकान में चले गये। मकान के एक कमरे में कुछ हड्डियां तथा कपड़े पड़े मिले। इन बगाों के बताने पर गांव वालों ने आकर यह सब कुछ देखा तो पुलिस को सूचना दी। इस गांव में जाने पर ही पता चला कि हरीराम का पुत्र गायब है। यह हड्डियां और कपड़े उसी किशोर के हो सकते हैं। थानाधिकारी के अनुसार सूचना देकर हरीराम मेघवाल को अक्कासर में बुलवया गया, जिसने कपड़ों को देखते ही पहचान लिया। वहां मिली पैंट और शर्ट उसने अपने पुत्र की होना बताया है। इस कमरे में कुछ हड्डियां तथा आधा टूटा हुआ जबड़ा मिला है। शरीर की बाकी हड्डियां वहां नहीं मिली। जबड़े के अलावा वहां 20-22 हड्डियां मिली हैं, वह छोटी-छोटी हैं और देखने से वह पसलियां लगती हैं। इन सबको सुरक्षित तरीके से रखा गया है, जिसका अब हरीराम के साथ डीएनए मैच करवाया जायेगा। उन्होंने बताया कि हरीराम की रिपोर्ट पर फिलहाल अज्ञात व्यक्तियों पर हत्या करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *